फूड कॉर्पोरेशन में सुपरवाइजर की नौकरी लगाने का झांसा 18 लाख ठगे

होटल में रखा मेडिकल चेकअप और नियुक्ति का झांसा देते रहे ठग

ग्वालियर। फूड कॉर्पोरेशन में सुपरवाइजर की नौकरी लगाने का झांसा देकर ठगों के परिवार ने बेरोजगार से 18 लाख रु ऐंठ लिए। उसे 10 दिन तक हरियाणा से ग्वालियर बुलाकर होटल में रखा।

ठगों का कुनबा उसे मेडिकल टेस्ट, इंटरव्यू का झांसा देता रहा। फिर नियुक्ति पत्र थमाकर गायब हो गए। फूड कॉर्पोरेशन के ऑफिस जाकर जब नियुक्ति पत्र दिखाया तो पता चला कि पत्र फर्जी है।
पुलिस ने बताया ठगी सोनीपत, हरियाणा निवासी सुनील सिंह के साथ हुई। सुनील बेरोजगार हैं। उनसे सोनीपत में रहने वाली ऊषा रानी और उनके बेटे सारांश उर्फ मोहित और कुलदीप की मुलाकात हुई थी।

दोस्ती होने पर सुनील ने उनसे बेरोजगारी से परेशान होने की दलील दी। ऊषा और उसके बेटों ने भांप लिया कि सुनील को नौकरी के नाम पर ठगा जा सकता है, तो उन्हें भरोसा दिलाया कि मध्यप्रदेश में फूड कॉर्पोरेशन में उनकी जुगाड है। ग्वालियर में विभाग में सुपरवाइजर का पद खाली है।

पैसा खर्च करें तो उनकी नियुक्ति करा सकते हैं। ठगों की बातों में आकर सुनील पैसा देने के लिए राजी हो गए। मां बेटों ने उनसे कई खेप में 18 लाख रुपए ऐंठ लिए।

फिर ठग उन्हें मेडिकल टेस्ट और इंटरव्यू के नाम पर उन्हें यहां ग्वालियर लाए। पडाव पर होटल में उनके साथ रुके। करीब १० दिन तक सुनील के खर्च पर ही मौज मस्ती की और फर्जी नियुक्ति पत्र थमा कर गायब हो गए।

Puneet Shriwastav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned