गरबा फेस्टिवल में हुई फ्रेंडशिप, अब एंटरटेनमेंट और प्रॉब्लम्स में भी साथ

गरबा फेस्टिवल में हुई फ्रेंडशिप, अब एंटरटेनमेंट और प्रॉब्लम्स में भी साथ
गरबा फेस्टिवल में हुई फ्रेंडशिप, अब एंटरटेनमेंट और प्रॉब्लम्स में भी साथ

Harish kushwah | Updated: 22 Sep 2019, 12:07:46 AM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

गरबा महोत्सव से शुरू हुई दोस्ती फैमिली रिलेशन तक पहुंची और आज वे हर सुख-दुख में साथ हैं। डांडिया फेस्टिवल के इस सीजन में हम आपको कुछ ऐसे ही कैरेक्टर से परिचित करा रहे हैं।

ग्वालियर. गरबा महोत्सव की शुरुआत के साथ ही शहर में रौनक दिखने लगी है। ग्वालियराइट्स अपने फ्रेंड्स के साथ तोरण वाटिका रिहर्सल करने पहुंचने लगे हैं। सबसे अधिक उत्साह उन पार्टिसिपेंट्स में है, जो लंबे समय बाद इस फेस्टिवल के तहत मिल रहे हैं। इस फेस्टिवल से कई यादें भी संजोई हैं। कई ऐसे फ्रेंड्स हैं, जो इस फेस्टिवल में वर्षों पहले मिले और उनके बीच आज अच्छी बॉन्डिंग है। गरबा महोत्सव से शुरू हुई दोस्ती फैमिली रिलेशन तक पहुंची और आज वे हर सुख-दुख में साथ हैं। डांडिया फेस्टिवल के इस सीजन में हम आपको कुछ ऐसे ही कैरेक्टर से परिचित करा रहे हैं।

अब गॉशिप और शॉपिंग साथ-साथ

हमारी मुलाकात दो साल पहले गरबा महोत्सव में हुई। प्रेरणा ने बताया कि मुझे गरबा के स्टेप्स सीखने में उस समय प्रॉब्लम्स हो रही थी, तब प्रतिमा और ख़ुशी ने डांस स्टेप्स सीखने में मेरी मदद की। यह दोनों गरबा में पहले से एक्सपर्ट थीं, जबकि मेरा फर्स्ट टाइम था। प्रतिमा ने बताया कि इस समय हम तीनों अलग-अलग इंस्टीट्यूट्स से स्टडी कर रहे हैं। हमारा रोज-रोज मिलना तो नहीं हो पाता, लेकिन फोन पर डेली बात होती हैं। ओकेजन पर घूमने जाना, शॉपिंग करने में हम साथ होते हैं।

गरबा की फ्रेंडशिप से कॉलेज में मिली मदद

हम दोनों पिछले दो साल से गरबा में पार्टिसिपेट कर रहे हैं। पहली बार जब हम मिले थे। हम दोनों की फ्रेंडशिप बहुत आसानी से हो गई थी। दो साल पहले हुई दोस्ती के बाद से ही हम दोनों आज तक बेस्ट फ्रेंड हैं। हिमांशु ने बताया कि जब हम दोनों में फ्रेंडशिप हुई, तब मैं ग्रेजुएशन के लास्ट ईयर में था और शिवम ने उसी समय एडमिशन लिया था। कॉलेज में स्टडीज के लिए हर तरह की मदद मैंने की।

बहाने से पहुंच जाते हैं एक दूसरे के घर

गरबा फेस्टिवल में लास्ट ईयर हमारी दोस्ती प्रैक्टिस के समय हुई थी। साक्षी ने बताया की लास्ट ईयर गरबा समाप्त होने के बाद जब हम दोनों अपनी स्टडीज की वजह से काफी टाइम तक एक दूसरे को कॉन्टेक्ट नहीं कर पाए, तब मेरे बर्थडे पर रुचि ने मेरे घर आकर मुझे सरप्राइज गिफ्ट दिया। हम दोनों की फ्रेंडशिप में जो सुस्ती आई थी, उसमें फिर से जान आ गई। उसके बाद से कोई भी फैमिली फंक्शन हो, कोई पार्टी हो या फिर कोई शॉपिंग करनी हो, हम साथ में ही जाते हैं। कॉलेज की छुट्टी पर हम घर पहुंच जाते हैं।

पार्टिसिपेंट्स ने सीखा मॉडर्न गरबा

पत्रिका ओर पान बहार की ओर से आयोजित डांडिया महोत्सव में बूगी-बूगी के सेमीफाइनलिस्ट ब्रजेश शर्मा अपनी टीम के साथ तोरण वाटिका में प्रशिक्षण दे रहे हैं। इसी क्रम में शुक्रवार को भी पार्टिसिपेंट्स को मॉडर्न गरबा एवं डांडिया के नए स्टाइल्स एवं स्टेप्स सिखाए गए। इस कार्यक्रम के पॉवर्ड बाय आराध्य डांस एवं ज़ुम्बा फिटनेस हैं। कार्यक्रम का आयोजन शीला मोदी के मार्दर्शन में हो रहा है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned