सर : सिस्टर ने कहा था नहीं कर सकते भर्ती, प्राइवेट में कराओ डिलेवरी

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने किया निरीक्षण,गणेश नर्सिंग होम की ओटी सील, लाइफ केयर हॉस्पिटल को दिया नोटिस

By: monu sahu

Published: 05 Sep 2019, 05:13 PM IST

ग्वालियर. गणेश हॉस्पिटल मुरार और लाइफ केयर हॉस्पिटल ठाठीपुर चौराहा पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने निरीक्षण किया। जिसमें गणेश हॉस्पिटल में एक गर्भवती महिला आरती पत्नी मानसिंह ग्राम नौगांव जिला मुरैना जो 3 सितंबर की रात को भर्ती हुई। इस महिला ने बताया कि घर से मुरार जच्चा खाना में शाम को आई। जिस पर मुरार में सिस्टर ने उसके पति से कहा कि हम जच्चा खाना में भर्ती नहीं कर सकते हैं।


यह भी पढ़ें : युवक को नंगा करके सड़क पर दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, वीडियो वायरल

आप मरीज को कमलाराजा लेकर जाओ या प्राइवेट अस्पताल में ले जाओ। उसके बाद गार्ड ने गणेश हॉस्पिटल मुरार जाने के लिए कहा और एक महिला को साथ भेजा। भर्ती के दौरान गणेश हॉस्पिटल मुरार ने 24 हजार में डिलेवरी ऑपरेशन से करवाई। जब महिला से पूछा गया कि आप किसी सरकारी या प्राइवेट साधन से आए हैं तो उन्होंने बताया कि वह ऑटो से आए थे, लेकिन जब निरीक्षण किया गया तो ओटी की व्यवस्थाओं में बिल्कुल सुधार न होने की स्थिति में टीम ने ओटी को तत्काल प्रभाव से सील किया गया।


यह भी पढ़ें : मेले में जा रही लडक़ी की बॉडी के हो गए पांच टुकड़े, आपको हैरान कर देगी यह खबर

पहले भी दिया गया था नोटिस
इसी हॉस्पिटल में कुछ कमियों को लेकर 24 अगस्त को कारण बताओ नोटिस दिया गया था। इसका जबाव आज तक नहीं दिया गया है। इसके बाद बुधवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने लाइफ केयर हॉस्पिटल का निरीक्षण आइसीयू में किया। जहां तीन मरीज भर्ती थे। यहां गंदे पर्दे थे। भर्ती मरीज से प्राइवेट एंबुलेंस एवं 108 वाहन संबंधी जानकारी ली गई। तो उन्होंने बताया कि अपने साधन से नर्सिंग होम में भर्ती हुए हैं। कमियों पर नर्सिंग होम को नोटिस दिया। निरीक्षण में डॉ. सचिन श्रीवास्तव, नोडल ऑफीसर नर्सिंग होम,आइपी नरवरिया नोडल ऑफीसर 108 एम्बूलेंस सेवा एवं अखिलेश जैन शाखा प्रभारी नर्सिंग होम शामिल थे।


यह भी पढ़ें : यह युवक अपने साथ रखता था GF और पुलिस वाले कराते थे अय्याशी, सच्चाई जान दंग रह जाएंगे आप

आशा कार्यकर्ता को दिया नोटिस
गणेश हॉस्पिटल में 24 अगस्त को तीन मरीजों ने निरीक्षण दल को बताया था गणेश हॉस्टिपल में सुशीला शर्मा, आशा कार्यकर्ता ग्राम चकरायपुर,अंजु दीवाकर मरीज को बहलाकर उक्त नर्सिंग होम में भर्ती करवाने लाई थी। इस आशा कार्यकत्र्ता को तीन दिवस में जवाब प्रस्तुत करने के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया है।


यह भी पढ़ें : ज्योतिरादित्य सिंधिया प्रदेश अध्यक्ष बनें मेरे जैसे लाखों कार्यकर्ता चाहते हैं : महेन्द्र सिंह

सीएमएचओ डॉ. मृदुल सक्सेना ने बताया कि प्राइवेट एंबुलेंस, 108 एंबुलेंस के द्वारा प्राइवेट अस्पताल में मरीजों को बहलाकर भर्ती कराने एवं अस्पतालों द्वारा कमीशन के लालच में मरीजों का गलत इलाज करने की शिकायत को लेकर यह कार्यवाही की जा रही है। यह कार्रवाई कलेक्टर के निर्देश पर जारी रहेगी।

monu sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned