Breaking : पाटौर गिरने से मासूम की मौत,चार लोग घायल

Breaking : पाटौर गिरने से मासूम की मौत,चार लोग घायल

monu sahu | Publish: Sep, 16 2018 04:34:43 PM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 04:34:44 PM (IST) Gwalior, Madhya Pradesh, India

Breaking : पाटौर गिरने से मासूम की मौत,चार लोग घायल

ग्वालियर। शिवपुरी जिले के कोलारस अनुविभाग के तेंदुआ थाना अंतर्गत ग्राम पिपरौदा जागीर में शुक्रवार-शनिवार की रात करीब डेढ़ बजे एक कच्ची पाटौर गिरने से मलबे में दबकर एक 10 वर्षीय बच्ची की मौत हो गई एवं परिवार के चार सदस्य घायल हो गए। पुलिस ने मामला दर्ज कर विवेचना में लिया है।जनपद पंचायत कोलारस की ग्राम पंचायत गणेशखेड़ा के ग्राम पिपरौद जागीर निवासी रामसिंह परिहार अपनी पत्नी गीताबाई व बच्चों के साथ पाटौर में सो रहा था, तभी रात के समय पाटौर की दीवारें ढह गईं और पूरा परिवार मलबे में दब गया।

यह भी पढ़ें : गजब है एमपी,यहां चल रहा है स्वच्छता अभियान फिर भी जगह-जगह लगे है गंदगी के ढेर

चीख-पुकार सुनकर ग्रामीणों ने मौके पर आए और मलबे में दबे लोगों को बाहर निकालकर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया । अस्पताल में उपचार के दौरान रामसिंह परिहार की 10 वर्षीय बेटी अंजली की मौत हो गई, जबकि रामसिंह, उसकी पत्नी गीता एवं अन्य छोटे-छोटे दो बच्चे घायल हो गए, जिन्हें उपचार के बाद शनिवार को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

यह भी पढ़ें : दिनदहाड़े घर मे घुसे बदमाश ने महिला को पीटा,फिर की घिनौनी हरकत

स्वीकृत पीएम आवास मिल जाता तो नहीं होता हादसा
मृत बच्ची के पिता रामसिंह परिहार ने अस्पताल परिसर में अपनी व्यथा सुनाते हुए बताया कि प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के अंतर्गत उसका आवास पांच माह पूर्व स्वीकृत हो चुका है और स्वीकृत सूची में उसका नाम 102 नंबर पर है।

यह भी पढ़ें : यह एसपी ट्वीटर पर सुनते है शिकायत,तुंरत ही होता है समस्या का समाधान

बकौल रामसिंह समय-समय पर सरपंच सहित रोजगार सहायक से कुटीर मंजूर किए जाने की गुहार भी लगाई लेकिन पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा पैसों की मांग की गई, जिससे उसे मंजूर आवास नहीं मिल सका। जबकि गांव के साधन सम्पन्न किसानों को यह आवास उपलब्ध कराए जा रहे हैैं। यदि उसे यह आवास मिल गया होता तो शायद उसकी बेटी की जान नहीं जाती।

Ad Block is Banned