scriptGovernment banks remained closed for the second day, customers did e-t | दूसरे दिन भी बंद रहे सरकारी बैंक, ग्राहकों ने किया इ-लेन-देन | Patrika News

दूसरे दिन भी बंद रहे सरकारी बैंक, ग्राहकों ने किया इ-लेन-देन

- दो दिवसीय हड़ताल से करीब 350 करोड़ के लेन-देन हुए प्रभावित, दो दिन बाद शनिवार से खुलेंगे बैंक

ग्वालियर

Updated: December 17, 2021 11:01:22 pm

ग्वालियर. बैंकों के निजीकरण के विरोध में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में हुई दो दिवसीय हड़ताल के चलते शुक्रवार को भी ताले लटके रहे। यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन्स (यूएफबीयू) के आव्हान पर की गई अखिल भारतीय बैंक हड़ताल के तहत सार्वजनिक क्षेत्र के 12 बैंकों की करीब 230 शाखाओं के 2000 से अधिक अधिकारी-कर्मचारी नो वर्क-नो पे के आधार पर हड़ताल में शामिल हुए। बैंकों की इस दो दिवसीय हड़ताल की वजह से करीब 350 करोड़ के लेन-देन सहित लगभग 100 करोड़ के चेक क्लियर नहीं हो पाए। बैंकों के बंद रहने के कारण ग्राहकों ने इंटरनेट बैंकिंग का रुख किया। हालांकि शहर के निजी बैंकों में रोजाना की तरह कामकाज होता रहा। दो दिन की हड़ताल के बाद शनिवार को बैंक खुलेंगे, जबकि रविवार की फिर से छुट्टी है।
दूसरे दिन भी बंद रहे सरकारी बैंक, ग्राहकों ने किया इ-लेन-देन
दूसरे दिन भी बंद रहे सरकारी बैंक, ग्राहकों ने किया इ-लेन-देन
नहीं हो पाए ये काम
राष्ट्रीयकृत बैंकों की हड़ताल की वजह से बैंकों में नए खाते नहीं खुल सके। ग्राहक सेवाओं में नकद लेन-देन, चेक क्लियरिंग, लॉकर ओपनिंग, ऋण प्रकरण, लेखा, विदेशी मुद्रा विनिमय, ड्रॉफ्ट्स आदि बनाने जैसे काम नहीं हो पाए।
सुबह से शुरू हो गया विरोध प्रदर्शन
हड़ताल में शामिल कर्मचारी और अधिकारियों ने शुक्रवार को सुबह 11 बजे फूलबाग स्थित बैंक ऑफ इंडिया की शाखा के बाहर इक_े होकर विरोध प्रदर्शन प्रारंभ किया। केंद्र सरकार की ओर से बैंकों के निजीकरण के प्रस्तावित विधेयक के विरोध में यूनियन के पदाधिकारियों ने अपनी भड़ास निकाली। इस दौरान बैंककर्मियों ने जमकर नारेबाजी भी की। ऐसोसिएशन के पदाधिकारियों ने हड़ताल को पूरी तरह सफल बताया है। प्रदर्शन के दौरान यूएफबीयू के संयोजक वीरेन्द्र कुमार श्रीवास्तव, अधिकारी संघ के उपमहासचिव अवधेश अग्रवाल और अवार्ड यूनियन के उपमहासचिव रहीम खान, गोवर्धन शर्मा, एससी शर्मा, विनोद रत्नाकर, सुमित तिवारी, प्रमोद गर्ग, अनूप राणा, रंजना कुशवाह, रचना गोस्वामी, शैलेश कुमार, सुनील शर्मा आदि मौजूद थे। बैंककर्मियों के प्रदर्शन के दौरान बैंक के बाहर सडक़ पर कई बार जाम के हालात भी बनते दिखे।
एटीएम हुए खाली
शहर में सरकारी व निजी क्षेत्र के बैंकों के करीब 350 एटीएम हैं। हड़ताल के कारण ग्राहकों को कोई परेशानी ना हो, इसके लिए एटीएम में कैश लोड करने वाली सुरक्षा एजेंसियों ने एटीएम में कैश लोड किया था। फिर भी शुक्रवार की सुबह से कई जगहों पर कैश खाली हो गया था, ऐसे में एटीएम में कैश निकालने पहुंचे लोगों को परेशान होना पड़ा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

School Holidays in February 2022: जनवरी में खुले नहीं और फरवरी में इतने दिन की है छुट्टी, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीइस एक्ट्रेस को किस करने पर घबरा जाते थे इमरान हाशमी, सीन के बात पूछते थे ये सवालजैक कैलिस ने चुनी इतिहास की सर्वश्रेष्ठ ऑलटाइम XI, 3 भारतीय खिलाड़ियों को दी जगहदुल्हन के लिबाज के साथ इलियाना डिक्रूज ने पहनी ऐसी चीज, जिसे देख सब हो गए हैरानकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेश

बड़ी खबरें

झारखंड में नक्सलियों ने ब्लास्ट कर उड़ाया रेलवे ट्रैक, राजधानी एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनों का रूट बदलायूपी चुनाव से रीवा का बम टाइमर कनेक्शननागालैंड में AFSPA कानून को खत्म करने पर विचार कर रही केंद्र सरकारRepublic Day 2022 LIVE updates: राजपथ पर दिखी संस्कृति और नारी शक्ति की झलक, 7 राफेल, 17 जगुआर और मिग-29 ने दिखाया जलवाजिनके नाम से ही कांपते थे आतंकी, जानिए कौन थे शहीद बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्ररीट परीक्षा का पेपर आउट करने वाला मुख्य आरोपी और उसका साथी गिरफ्तारसरकारी स्कूल में कोरोना विस्फोट, जांच में 23 बच्चे निकले पॉजिटिव, 5 स्टाफ भी संक्रमित, SDM ने किया स्कूल बंदCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 7,498 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 10.59%
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.