ग्वालियर जयारोग्य अस्पताल में अव्यवस्थाएं मरीजों के लिए नासूर बन गई हैं। यहां ग्वालियर-चंबल अंचल के अलावा दूर-दूर से मरीज आते हैं, लेकिन अव्यवस्थाओं से रूबरू होते हैं तो उनका दर्द और बढ़ जाता है। पिछले महीने चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. विजय लक्ष्मी साधौ ने निरीक्षण के दौरान लिफ्ट बंद मिलने पर नाराजगी जताई थी और जेएएच अधीक्षक से पूछा था कि कितने दिन में लिफ्ट तैयार हो जाएगी, अधीक्षक ने एक-डेढ़ महीने की बात कही थी। पीडब्ल्यूडी ने इसके लिए ठेका दे दिया और जेएएच प्रशासन ७६ लाख रुपए पीडब्ल्यूडी को दे दिए, लेकिन अभी तक लिफ्ट का काम शुरू नहीं हो पाया है।
लिफ्ट नहीं होने से हड्डी रोगियों और गंभीर मरीजों को कंधे पर लादकर ऊपरी मंजिल पर स्थित ऑपरेशन थियेटर और वार्ड तक ले जाया जा रहा है। लोगों की परेशानी जानने के लिए पत्रिका टीम शनिवार को जेएएच पहुंची तो देखा कि एक बच्चे को दो लोग कंधे पर लादकर ऊपर वार्ड में ले जा रहे थे। कुछ लोगों ने बताया कि सीढि़यों पर स्ट्रेचर ले जाने के लिए दोनों तरफ लाइन डाली है, लेकिन उस पर मरीज को चढ़ाते, उतारते समय गिरने का डर रहता है, कई और लोग भी मरीज को कंधे पर ले जाते दिखे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned