ग्वालियर प्रशासन और नगर निगम की टीम बसंत विहार में स्थित सहारा अस्पताल पहुंची। जेसीबी ने जैसे ही तुड़ाई शुरू की तो नर्स एवं अन्य स्टाफ मशीन के सामने खड़े होकर विरोध करने लगे। प्रशासन ने अस्पताल प्रबंधन को मरीजों को दूसरे अस्पतालों में शिफ्ट करने के लिए कहा, लेकिन उन्होंने मना कर दिया।
इसके बाद नगर निगम के मदाखलत अमले ने अस्पताल के मुख्य द्वार को गिराना शुरू कर दिया, तभी अस्पताल की प्रशासनिक अधिकारी सुमन कुमरा ने एडीएम किशोर कन्याल से कहा कि उनके पास कोर्ट से स्थगन है, कार्रवाई रोक दीजिए। एडीएम ने स्थगन देखा तो वह ५ नवंबर तक था। अस्पताल प्रबंधन ने प्रशासन और निगम से कुछ देर की मोहलत मांगी और कहा कि स्थगन बढ़ गया है और ऑर्डर की कॉपी कुछ देर में आ जाएगी। लेकिन कॉपी नहीं मिली तो एडीएम, नगर निगम अधिकारियों ने कुछ देर से रुकी कार्रवाई फिर शुरू करवा दी।

[MORE_ADVERTISE1][MORE_ADVERTISE2]

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned