ग्वालियर. संत चिन्मयानंद ने कहा है कि जिस देश में हम रहते हैं हमें उस देश के प्रति समर्पित रहना चाहिए। जिस धर्म में हम हैं उस धर्म के प्रति हमें पूरी निष्ठा से समर्पित रहना चाहिए। वे यहां महलगांव स्थित कैलादेवी मंदिर में चल रही रामकथा के चौथे दिन बोल रहे थे। भागवत प्रेम परिवार समिति की ओर से आयोजित रामकथा में संत चिन्मयानंद ने कहा कि प्रभु राम संपूर्ण मानव जीवन के लिए आदर्श हैं, उनका चरित्र हम सभी अपने जीवन में उतारें। प्रभु राम जैसा चरित्र धरती पर ना हुआ है और ना होगा।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned