ग्वालियर-चंबल संभाग के पहलवान देश का नाम रोशन करें

मेला में कुश्ती प्रतियोगिता का शुभारंभ

ग्वालियर। ग्वालियर-चंबल संभाग की पहचान पहलवानों के नाम से भी होती है। लेकिन लोग कुश्ती से दूर हो रहे हैं। यह चिंता का विषय है। हम चाहते हैं कि इस अंचल के पहलवान कुश्ती में देश का नाम रोशन करें। यह बात दक्षिण विधायक प्रवीण पाठक ने रविवार को व्यापार मेला में कुश्ती प्रतियोगिता के शुभारंभ अवसर पर कही।
विधायक पाठक ने कहा कि कई पहलवानों का रोजगार और भविष्य कुश्ती ही है। इसलिए अखाड़ों की दुर्दशा दूर करना जरूरी है। अंचल के अखाड़ों की हालत बहुत खराब है। ग्वालियर में सबसे ज्यादा अखाड़े दक्षिण विधानसभा क्षेत्र में हैं। उस्ताद उन्हें सुधारने की जिम्मेदारी लें, पैसा हम देंगे। साथ ही मेला के अखाड़े को उस्ताद संभालें। अगले साल मेला में मिट्टी के अखाड़े में कुश्ती हो।
इस मौके पर मेला उपाध्यक्ष डॉ. प्रवीण अग्रवाल ने कहा कि मेला प्राधिकरण कुश्ती की विरासत को जारी रखे है। इसमें पहलवानों को कला दिखाने का मौका मिल रहा है। हमारे यहां के पहलवान देश का नाम रोशन करें। मेला प्राधिकरण की टीम पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के निर्देश पर कुश्ती की कला को आगे बढ़ाने का काम कर रही है। मेला के स्टेडियम को जल्द पूरा कराकर मेट की जगह मिट्टी पर दंगल कराने का प्रयास किया जा रहा है।
आरंभ में विधायक प्रवीण पाठक, मेला अध्यक्ष प्रशांत गंगवाल, सचिव मजहर हाशमी, संचालक एवं दंगल समिति के संयोजक मेहबूब भाई चेनवाले, संचालकद्वय शील खत्री व सुधीर मंडेलिया, आनंद मिश्रा, पहलवानगण लालचंद, शहजाद खान, करण, रतन, शिवचरण, भगवान सिंह, राजेंद्र शर्मा, कोच करमवीर सिंह आदि ने बजरंगबली की पूजा-अर्चना कर दीप प्रज्वलित किया। इस अवसर पर कोच कुंवरराज ग्वालियर, शाकिर नूर व फातिमा बानो भोपाल, मेहरबान सिंह झांसी भी मौजूद थे।

राजेंद्र ठाकुर Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned