2020 की शुरूआत के साथ ही आई ग्वालियर के लिए खुशखबरी, महाराजा बाड़े पर हो रहा ये बड़ा बदलाव

gwalior first smart road construction starts at maharaja bada : स्मार्ट सिटी कंपनी ने इसके लिए दो महीने तक टेंडर के टेक्निकल बिड की जांच करने के बाद दो दिन पहले फायनेंसियल बिड भी ओपन कर दी है

By: Gaurav Sen

Updated: 03 Jan 2020, 10:54 AM IST

ग्वालियर. शहर के हृदय स्थल महाराज बाड़े को स्मार्ट बनाने और आसपास के क्षेत्र के विकास के लिए 275 करोड़ रुपए का प्रोजेक्ट जल्द शुरू होगा। महाराज बाड़े से सराफा बाजार होकर इंदरगंज, एमएलबी कॉलेज तक पहली स्मार्ट रोड बनाई जाएगी, इस पर सभी ख्ंाभे, ट्रांसफार्मर, बिजली के तार अंडरग्राउंड किए जाएंगे। इस दौरान सड़क के दोनों तरफ केबल डालने के लिए जगह दी जाएगी, जिससे बाद में सड़क नहीं खोदनी पड़े। प्रोजेक्ट में बाड़े पर तीन बेसमेंट पार्किंग बनाई जाएंगी, जिसमें 2 हजार से अधिक वाहन खड़े किए जा सकेंगे।

इसके अलावा महाराज बाड़ा पर पेडस्ट्रेन भी बनाया जाएगा, जहां लोग पैदल चल सकेंगे, यहां वाहनों की आवाजाही प्रतिबंधित रहेगी। स्मार्ट सिटी कंपनी ने इसके लिए दो महीने तक टेंडर के टेक्निकल बिड की जांच करने के बाद दो दिन पहले फायनेंसियल बिड भी ओपन कर दी है। सूत्रों की मानें तो बिड में एलएंडटी ने सबसे कम बोली लगाई है। हालांकि अधिकारी अभी फायनेंसियल कमेटी द्वारा इसका रिव्यू करने की बात कह रहे हैं, इसके बाद ही टेंडर अवार्ड किया जाएगा।

18 महीने में पूरा होगा काम : टेंडर ओपन होने के बाद प्रोजेक्ट 18 महीने में पूरा होगा। टेंडर ओपन होते कार्य शुरू कर दिया जाएगा।


टेंडर ओपन होने में 2 महीने से ज्यादा लगे
टेंडर ओपन करने में स्मार्ट सिटी कंपनी ने काफी समय लगाया। करीब दो महीने पहले टेंडर की टेक्निकल बिड ओपन की गई थी, इसके बाद दो दिन पहले टेंडर ओपन किया गया है।

रेट का परीक्षण
टेंडर फिलहाल किसी को अवार्ड नहीं किया गया है। अभी फायनेंसियल कमेटी कंपनी ने जो रेट दिए हैं उसका परीक्षण कर रही है। इसके बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

बार-बार नहीं खोदनी पड़ेगी सड़क
स्मार्ट रोड पर पानी और सीवर की पाइप लाइन भी डाली जाएगी, जिससे सड़क बनने के बाद सड़क को बार-बार खोदना नहीं पड़ेगा।

6 कंपनियों ने किया पार्टिसिपेट
इसमें 6 कंपनियों ने पार्टिसिपेट किया था, जिसमें साउथ ईस्ट, एमएंडएम बिल्डर्स, यूपी कंस्ट्रक्शन, बीटीएल, एलएंडटी और यूनिवर्सल शामिल थे। सूत्रों के अनुसार बिड में सबसे कम बोली एलएंडटी ने लगाई है। इसके साथ ही दूसरे नंबर पर साउथ ईस्ट कंपनी है। दोनों की बिड में मामूली अंतर है।

दोनों ओर होगी वायरिंग के लिए जगह
सड़क निर्माण के दौरान दोनों ओर वायरिंग के लिए जगह दी जाएगी, जिससे जब भी किसी को वायरिंग करनी होगी तो उसे रोड नहीं खोदनी होगी। निश्चित जगह पर ही केबल डाली जाएगी।

परीक्षण कर रहे हैं
टेंडर की फायनेंसियल बिड ओपन हो गई है, लेकिन अभी कमेटी इसका परीक्षण कर रही है। कमेटी की रिपोर्ट के बाद ही टेंडर अवार्ड किया जाएगा।
महीप तेजस्वी, सीईओ स्मार्ट सिटी

Gaurav Sen
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned