scriptGwalior museums are priceless for the world | यहां रखा है बेशकीमती चीजों का खजाना, एक बार देखने जरूर आइए | Patrika News

यहां रखा है बेशकीमती चीजों का खजाना, एक बार देखने जरूर आइए

विश्व संग्रहालय दिवस के मौके पर जानिए ग्वालियर के संग्रहालयों के बारे में....।

ग्वालियर

Updated: May 18, 2022 03:46:47 pm

ग्वालियर। ग्वालियर शहर के लिए इंटरनेशनल म्यूजियम डे काफी मायने रखता है क्योंकि यहां भी कई म्यूजियम बने हैं। शहर के अलग-अलग हिस्सों में बने इन म्यूजियम को देखने देश-विदेश के लोग पहुंचते हैं। इंटरनेशनल म्यूजियम डे को मनाने का उद्देश्य विश्व के लोगों को संग्रहालयों के प्रति जागरूक करना है। यही कारण है कि 18 मई 1983 को संयुक्त राष्ट्र ने संग्रहालय की विशेषता एवं महत्व को समझते हुए अंतरराष्ट्रीय संग्रहालय दिवस मनाने का निर्णय लिया था।

jaivilas.jpg
gw1.jpg

नगर निगम म्यूजियम

इसे पहले स्टेट म्यूजियम के नाम जाना जाता था। 1905 में यह स्टेट म्यूजियम बना, जिसे 1922 में नगर निगम को हैंडओवर कर दिया गया। इसका नाम तीन बार बदला गया। सबसे पहले स्टेट म्यूजियम फिर विचित्रालय और फिर 1980 में संग्रहालय रखा गया। म्यूजियम में शहर की सबसे पहली मोटर कार, अकबर की दोमुहीं तलवार, रानी लक्ष्मीबाई के अस्त्र-शस्त्र, 765 प्रिजर्व पशु-पक्षी और जानवरों की प्रजातियों की खालें व आजादी के पहले और बाद के अखबार खास हैं। यहां सिंधिया परिवार की पहली मोटर कार सहित 30 मार्च 1943 को भिंड के गरोली गांव में तेज आवाज के साथ गिरा उल्का पिंड भी रखा हुआ है।

gw2.jpg

जय विलास पैलेस

सिंधिया राजवंश की ओर से दो फ्लोर में बनाए गए जय विलास पैलेस में छोटे-बड़े 500 कमरे और करीब 40 गैलरियां हैं। जय विलास महल आज भी सिंधिया राजवंश और उनके पूर्वजों का घर है। इसका एक हिस्सा संग्रहालय के रूप में उपयोग किया जाता है। इसका निर्माण 1809 में जयाजी राव सिंधिया ने कराया था। यहां सिंधिया शासनकाल, औरंगजेब और शाहजहां की तलवार के कई दस्तावेज और कलाकृतियां हैं। इटली और फ्रांस की कलाकृतियां भी यहां प्रदर्शन के लिए रखी गई हैं। संग्रहालय में हजारों टन के दो बड़े झूमर हैं, साथ ही चांदी की टे्रन भी पर्यटकों को आकर्षित करती है।

gwa-4.jpg

गूजरी महल संग्रहालय

इस पुरातात्विक संग्रहालय की स्थापना 1920 में एमवी गर्दे की ओर से कराई गई थी, जिसे 1922 में दर्शकों के लिये खोला गया था। संग्रहालय के 28 कक्षों में मध्य प्रदेश की ईसापूर्व दूसरी शती ई. से 17वीं शती ई. तक की विभिन्न कलाकृतियों और पुरातात्विक धरोहरों का प्रदर्शन किया गया है। गूजरी महल संग्रहालय में पुरातत्व इतिहास से संबंधित महत्वपूर्ण शिलालेख भी रखे गए हैं और विदिशा के बेसनगर, पवाया से प्राप्त महत्वपूर्ण पाषाण प्रतिमाएं रखी हुई हैं। इनमें विशेष रूप से दर्शनीय ग्यारसपुर की शालभंजिका की मूर्ति है। इस संग्रहालय में 28 गैलरियां और करीब 9000 कलाकृतियां हैं। संग्रहालय में रखीं विभिन्न प्रतिमाएं कई बार देश-विदेश में प्रदर्शनी के लिए भेजी जा चुकी हैं।

गूजरी महल में प्राचीन वाद्ययंत्रों की दीर्घा का शुभारंभ

ग्वालियर दुर्ग स्थित गूजरी महल संग्रहालय में प्राचीन वाद्ययंत्रों की दीर्घा का शुभारंभ 18 मई को होने जा रहा है। ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर दोपहर एक बजे इस दीर्घा का शुभारंभ करेंगे। राज्य शासन के संस्कृति विभाग के अंतर्गत पुरातत्व अभिलेखागार एवं संग्रहालय की ओर से गूजरी महल में प्राचीन वाद्य यंत्रों की नवीन दीर्घा का निर्माण कराया गया है। यहां पहले हथियारों की गैलरी थी जिसकी खबर पत्रिका ने प्रमुखता से प्रकाशित की थी उसके बाद पुरातत्व अभिलेखागार एवं संग्रहालय ने इसको वाद्ययंत्र की दीर्घा के रूप में विकसित किया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान में 26 से फिर होगी झमाझम बारिश, यहां बरसेगी मेहरबुध ने रोहिणी नक्षत्र में किया प्रवेश, 4 राशि वालों के लिए धन और उन्नति मिलने के बने योगबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयपनीर, चिकन और मटन से भी महंगी बिक रही प्रोटीन से भरपूर ये सब्जी, बढ़ाती है इम्यूनिटीबेहद शार्प माइंड के होते हैं इन राशियों के बच्चे, सीखने की होती है अद्भुत क्षमतानोएडा में पूर्व IPS के घर इनकम टैक्स की छापेमारी, बेसमेंट में मिले 600 लॉकर से इतनी रकम बरामदझगड़ते हुए नहर पर पहुंचा परिवार, पहले पिता और उसके बाद बेटा नहर में कूदा3 हजार करोड़ रुपए से जबलपुर बनेगा महानगर, ये हो रही तैयारी

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: उद्धव ठाकरे ने शिंदे खेमे को फटकारा, बोले- मेरे गर्दन और सिर में दर्द था, मैं अपनी आंखें नहीं खोल पा रहा था...Maharashtra Politics: बीजेपी नेता ने राज्यपाल को लिखा पत्र, कहा- उद्धव सरकार 2 दिन से अंधाधुंध ले रही फैसले, डिप्टी CM ने दिया जवाबMaharashtra Political Crisis: नासिक में एकनाथ शिंदे का भारी विरोध, शिवसैनिकों ने पोस्टर पर कालिख पोती, शिंदे ने टाला मुंबई आने का प्लान2-3 जुलाई को हैदराबाद में BJP की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक, पास वालों को ही मिलेगी इंट्री, सुरक्षा के कड़े इंतजामनीति आयोग के नए CEO होंगे परमेश्वरन अय्यर, 30 जून को अमिताभ कांत का खत्म हो रहा है कार्यकालG7 Summit 2022: पीएम मोदी कल जी7 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने जर्मनी जाएंगे, जानिए किन मुद्दों पर होगी चर्चाMumbai News Live Updates: शिवसैनिक कर सकते है हंगामा! मुंबई समेत राज्यभर के सभी पुलिस स्टेशन हाई अलर्ट परPresidential Election: NDA प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू ने सोनिया गांधी, ममता बनर्जी व शरद पवार से की बात, सपा का यशवंत सिन्हा को सर्मथन का ऐलान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.