पत्रिका एक्सपोज न्यूज... पाइपलाइन डालने खोदी गई सड़कों के रेस्टोरेशन की रफ्तार बेहद धीमी

शहर में अमृत योजना के तहत सीवर और पानी की पाइप लाइन डालने के लिए खोदी गई सडक़ों के रेस्टोरेशन के लिए निगम प्रशासक ने अप्रैल तक का अल्टीमेटम...

ग्वालियर. शहर में अमृत योजना के तहत सीवर और पानी की पाइप लाइन डालने के लिए खोदी गई सडक़ों के रेस्टोरेशन के लिए निगम प्रशासक ने अप्रैल तक का अल्टीमेटम दिया है। सीवर लाइन डालने के लिए खोदी गई सड़कों का तो काफी हद तक रेस्टोरेशन हो गया है, लेकिन पानी की लाइन के लिए खोदी गई सड़कों की स्थिति बहुत ही खराब हैं। इन्हें सुधारने के लिए निगमायुक्त ने कई बार निर्देश दिए, लेकिन कोई असर नहीं हुआ। अमृत योजना के तहत अभी तक करीब 235 किलोमीटर की सीवर लाइन बिछाई गई, जिसमें 180 किमी से अधिक की सडक़ को ठीक कर दिया गया है। इसमें लगभग 30 किलोमीटर सड़क का रेस्टोरेशन करना शेष है। शहर के हजीरा से किलागेट, सेवानगर, हरीशंकरपुरम और नाका चन्द्रवदनी, डीडी नगर, लक्ष्मीगंज मार्ग सहित अन्य पर इन दिनों सबसे ज्यादा गड्डे हैं। लाइन डलाने के बाद इनके ऊपर से मोटी गिट्टी डाल दी गई है। जो उछलकर लोगों को लग रही है। लाइन डालने के बाद ठेकेदारों ने मि_ी डालकर ऊपर से गिट्टी डाल दी है। जिसके चलते क्षेत्रीय लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।


हकीकत में ऐसा काम किया जा रहा
निगम आयुक्त ने अमृत योजना में सड़कों को खोदकर ठीक नहीं करने पर बीते दिनों खासी नाराजगी जताई थी। इतना ही नहीं अधिकारियों को समय पर रेस्टोरेशन कराने के निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने एक साथ सड़क खोदने के बजाए 100 मीटर सड़क खोदकर उसे ठीक करने के बाद ही आगे लाइन डालने के निर्देश दिए हैं। लेकिन रेस्टोरेशन का कार्य बहुत धीमी गति से चल रहा है।


मंत्री के क्षेत्र में खस्ताहाल सड़कें
ऊर्ज मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के क्षेत्र में ऊबड़-खाबड़ सड़कों से लोग परेशान हैं। अधिकांश मुख्य मार्ग पूरी तरह जर्जर हो चुके हैं। सड़कों गड्ढे के कारण आए दिन वाहन चालक दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं। ठेकेदार पानी तथा सीवर की लाइन डाल कर खोदी गई सड़क पर मिट्टी डालकर और सडक़ों की आधी अधूरी मरम्मत कर चलते बने। लेकिन अब यह खस्ताहाल सड़कें लोगों के लिए जानलेवा साबित हो रही हैं। अमृत योजना के तहत को खोदी गई सड़कों की कई जगह हालत तो इतनी खराब है कि वाहनों पर चलते समय पूरा शरीर हिचकोले खाता है। वाहनों के साथ साथ लोगों की सेहत भी खराब हो रही हैं।


लोगों का निकलना हुआ मुश्किल
हजीरा से किलागेट व सेवानगर, लक्ष्मीगंज के पास पानी व सीवर लाइन के लिए खुदाई होने से लोगों के घरों के आगे बड़े गड्ढे होने से उनका घरों से निकलना मुश्किल हो गया है। शिंदे की छवानी से रामदास घाटी वाले क्षेत्र में सीवर के लिए कई घरों के आगे तो गहरे चैंबर बनाने के बाद मिट्टी घरों के गेट तक आ गई जहां से लोग आ जा नहीं पा रहे हैं।


विनयनगर से बहोड़ापुर तक गड्डे
विनयनगर से लेकर बहोड़ापुर तक जगह-जगह गड्डों के साथ धूल के गुब्बार उड़ रहे हंै। मुख्य मार्ग ही नहीं शहर के आंतरिक मार्ग भी जर्जर हो चुके हैं। जिससे रहवासियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सड़कों की मरम्मत नहीं होने से लोगों को गड्ढे से होकर गुजरना पड़ रहा है। विनय नगर में सडक़ का एक बड़ा हिस्सा बीते कुछ दिनों से गड्ढे में तब्दील हो गया है।


नहीं आने दी जाएगी परेशानी
शहर की सभी सड़कों को दुरस्त करने के निर्देश बीते दिनों दिए जा चुके हैं। जल्द ही सभी सड़कों को ठीक करवा दिया जाएगा। जनता को किसी भी तरह की परेशानी नहीं आने दी जाएगी।
शिवम वर्मा आयुक्त नगर निगम

रिज़वान खान Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned