ग्वालियर में सुबह से ही दिखा टोटल लॉकडाउन का असर, बाजार और मोहल्लों में सन्नाटा

ग्वालियर चंबल संभाग में हर दिन मिल रहे हैं कोरोना संक्रमित

By: monu sahu

Updated: 15 Jul 2020, 02:31 PM IST

ग्वालियर।जिले में कोरोन संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए प्रशासन ने मंगलवार की शाम 7 बजे से जिले में सात दिन के लिए कफ्र्यू लगा दिया है। जिसके चलते जिले की सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है। मंगलवार की रात के बाद बुधवार सुबह से ही कफ्र्यू का असर देखा गया। लोग सुबह से ही अपने घरों के अंदर कैद रहे और बाजार की सभी दुकानें पूर्ण रूप से बंद रही। शहर के थाटीपुर,मुरार,सेवानगर,गोलपहाडिय़ा व महाराज बाड़ा सहित तमाम जगहों पर भारी संख्या में पुलिस नजर आई।

पूर्व मुख्यमंत्री बोले सिंधिया ने दुश्मन से हाथ मिलाया, भाजपा नेताओं ने दिखाए काले झंडे

इस दौरान जो भी घुमता हुआ नजर आया उस पर सख्त कार्रवाई की गई। इससे पहले रात को भी प्रशासन ने पूरे शहर में फ्लैग मार्च निकला था। मंगलवार की शाम को आई कोरोना रिपोर्ट में 38 लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए। हालांकि यह संख्या अन्य दिनों की अपेक्षा कम थी। जिससे प्रशासन को थोड़ी देर के लिए राहत की सांस ली। वहीं ग्वालियर जिले में अब कोरोना संक्रमितों की संख्या 1254 हो गई है।

सिंधिया समर्थक व राज्य मंत्री के खिलाफ नारेबाजी का वीडियो वायरल

gwalior total lockdown 7 days in mp

लोग घरों में रहे कैद
जिले में कफ्र्यू के चलते सुबह दूध ब्रेड और अंडा की दूकानें ही खुली हुई थी। अन्य दुकानें पूर्ण रूप से बंद थी। सुबह शहर के सभी बाजारों में पुलिस की सख्ती नजर आई और लोग अपने ही घरों में कैद नजर आए। यहां बता दें कि जिले में चार दिन में 500 से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए थे। जिसके बाद प्रशासन ने टोटल लॉकडाउन और कफ्र्यू लगाने का निर्णय लिया। जिसे मंगलवार शाम सात बजे से लागू कर दिया गया।

सराफा व्यापारी की बेटी बोली पापा मुझे बचालो, पता नहीं ये लोग कौन हैं

कलेक्टर बोले होगी सख्त कार्रवाई
कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बताया कि एक हफ्ते के लॉकडाउन के दौरान ग्वालियर शहर में किसी भी प्रकार के सामाजिक, धार्मिक एवं राजनैतिक समारोह आयोजित नहीं किए जा सकेंगे। कहीं भी भीड़ पाए जाने पर आपदा प्रबंधन अधिनियम एवं अन्य कानूनी प्रावधानों के तहत सख्त कार्रवाई की जाएगी।

लॉक डाउन के दौरान जिले की सभी सीमाएं पूरी तरह सील रहेंगी। साथ ही सीमा पर बने नाकों पर कड़ी निगरानी रहेगी। जिले के भीतर किसी को भी प्रवेश करने की अनुमति नहीं होगी और न ही किसी को जिले से बाहर जाने दिया जाएगा। केवल आपातकालीन मेडिकल जरूरत होने पर ही जिले से बाहर और भीतर आने-जाने की अनुमति दी जाएगी।

Coronavirus information Coronavirus treatment
Show More
monu sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned