scriptweather aleart गहरे काले व भूरे रंगे के बादल छाएं तो बरतें सावधानी, इन्हीं बादलों से गिरती है बिजली | gwalior weather | Patrika News
ग्वालियर

weather aleart गहरे काले व भूरे रंगे के बादल छाएं तो बरतें सावधानी, इन्हीं बादलों से गिरती है बिजली

Weather alert: Be careful if dark black and brown clouds appear, these clouds cause lightning. शहर सहित अंचल में प्री मानसून की हलचल बढ़ गई है। आंधी के साथ बारिश हो रही है। इस बार वज्रपात (बिजली गिरने की घटनाएं) की घटनाएं भी बढ़ी हैं। भितरवार में बिजली गिरने से चार लोगों की मौत भी […]

ग्वालियरJun 20, 2024 / 11:13 am

Balbir Rawat

gwalior weather

शहर सहित अंचल में प्री मानसून की हलचल बढ़ गई है। आंधी के साथ बारिश हो रही है। इस बार वज्रपात (बिजली गिरने की घटनाएं) की घटनाएं भी बढ़ी हैं। भितरवार में बिजली गिरने से चार लोगों की मौत भी हो चुकी है।


Weather alert: Be careful if dark black and brown clouds appear, these clouds cause lightning.


शहर सहित अंचल में प्री मानसून की हलचल बढ़ गई है। आंधी के साथ बारिश हो रही है। इस बार वज्रपात (बिजली गिरने की घटनाएं) की घटनाएं भी बढ़ी हैं। भितरवार में बिजली गिरने से चार लोगों की मौत भी हो चुकी है। ऐसी स्थिति में लोगों को सावधानी बरतनी चाहिए। गहरे काले व भूरे रंगे बादल छाए हैं तो उन्हें देखकर सावधानी बरतनी होगी। क्योंकि इन बादलों से गर्जना व बिजली गिरने की घटनाएं अधिक हो रही है। मौसम विभाग ने बिजली से बचने के लिए निर्देशिका जारी की है, क्योंकि 20 से 23 जून के बीच ग्वालियर में आंधी व बारिश का दौर चलेगा। इन्हीं बादलों से बिजली गिरने की घटना होगी।
मौसम वैज्ञानिक व मौसम केंद्र भोपाल के रडार प्रभारी डॉ वेदप्रकाश सिंह ने बताया कि काले व हल्के भूरे बादल छाने पर खड़े होने के लिए सुरक्षित स्थान तलाशें। पेड़, जलाशय, बिजली के पोल के आसपास बिलकुल खड़े न हो। इन जगहों पर बिजली अधिक गिरती है। यदि समूह में जा रहे हैं तो एक साथ मोबाइल का उपयोग न करें। एक दूसरे के बीच दस फीट का अंतर बनाकर रखें। खुले मैदान में घुटनों के बल बैठ जाएं। किसानों को इसका ज्यादा ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि वर्तमान में किसान खुले में काम कर रहे हैं। प्री मानसून के के दौरान क्यूम्यलोनिम्बस बादल बरस रहे हैं। इन बादलों से बिजली गिरने की घटनाएं अधिक होती हैं।

दामिनी एप से भी मिल सकता है पूर्वानुमान

मौसम विभाग ने दामिनी एप शुरू किया है। इस एप से बिजली के संभावित क्षेत्र की पूर्व सूचना मिल सकती है। गूगल प्लेट स्टोर से अपने मोबाइल में डाउनलोड कर सकते हैं। लोकेशन के हिसाब से लाइटिंग की स्थिति जान सकते हैं। मौसम विभाग का अलर्ट भी आता है।
– मौसम नाम से भी एक चल रहा है। इस एप पर आंधी व बारिश का अलर्ट तीन से चार घंटे पहले आ जाता है। आंधी की रफ्तार कितनी रहने वाली है। इसकी भी जानकारी मिल जाती है।

हीटवेव से रही राहत, पर ग्वालियर प्रदेश में सबसे ज्यादा गर्म

पिछले चार दिन से जारी हीटवेव बुधवार को थम गई, लेकिन आसमान साफ होने की वजह से तेज धूप निकली और दोपहर में राजस्थान की गर्म हवा चली। इस कारण अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। ग्वालियर प्रदेश में सबसे ज्यादा गर्म रहा। न्यूनतम तापमान सामान्य से 2.7 डिग्री सेल्सियस कम रहा। तापमान सामान्य से नीचे आने की वजह से वार्म नाइट से राहत मिल गई।

Hindi News/ Gwalior / weather aleart गहरे काले व भूरे रंगे के बादल छाएं तो बरतें सावधानी, इन्हीं बादलों से गिरती है बिजली

ट्रेंडिंग वीडियो