व्हाइट टाइगर्स मीरा, सुल्तान और शेरा के दीवाने हैं ग्वालियराइट्स

इंटरनेशनल टाइगर डे आज: टाइगर देखने के कारण बढ़ रही जू घूमने विजिटर्स की संख्या

By: Mahesh Gupta

Published: 28 Jul 2020, 11:51 PM IST

ग्वालियर.

एक समय में एमपी को टाइगर स्टेट का दर्जा प्राप्त था। क्योंकि प्रदेश में सबसे अधिक टाइगर थे। आज भी श्योपुर, सवाई माधौपुर, कूनो, रीवा में टाइगर काफी संख्या में मिलते हैं। टाइगर को देखने की सबसे अधिक उत्सुकता बच्चों में होती है। ग्वालियर चिडिय़ाघर में कुल छह टाइगर हैं, जिनमें लव, शिवाजी और दुर्गा शामिल हैं। इनमें मीरा सुल्तान और शेरा व्हाइट टाइगर हैं, जो सबसे अधिक ग्वालियराइट्स में आकर्षण का केन्द्र हैं। इनमें मेल टाइगर 4 और फीमेल 2 शामिल हैं।


हेल्थ और हाईजीन का रख रहे पूरा ध्यान
हालांकि इन दिनों कोविड-19 के कारण चिडिय़ाघर बंद हैं, लेकिन अंदर रह रहे पशु पक्षियों की प्रॉपर हेल्थ का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। समय-समय पर चिकित्सक टीम उनका चेकअप करती है। चिडिय़ाघर के क्यूरेटर गौरव परिहार ने बताया कि हमारे यहां छह टाइगर ें हैं, जिन्हें देखने के लिए प्रतिवर्ष काफी संख्या में विजिटर्स आते हैं। यहां कई टाइगर के बच्चों ने जन्म लिया और उनका नामकरण किया गया। संक्रमण की स्थिति सामान्य होते ही और टाइगर लाने की योजना है। इसके लिए प्लानिंग की जा रही है।

टाइगर केज पर भी किया डवपलमेंट
अभी जब तक चिडिय़ाघर बंद है, तब तक चिडिय़ाघर में एनीमल्स के आराम के लिए कई चीजें डवलप हुई हैं। इसी क्रम में टाइगर के लिए भी रैम्प बनाया गया है। सीजन के अकॉर्डिंग उनके लिए डाइट भी बदली गई है। हमारे यहां सभी युवा टाइगर हैं, जिनको एक नजर देखने की डिमांड अधिकतर रहती है।

Mahesh Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned