scriptheat stroke: परिवार पर टूटा गर्मी का कहर, लू लगने से भाई-बहन की मौत | heat wreaks havoc on the family, brother and sister died due to heat stroke | Patrika News
ग्वालियर

heat stroke: परिवार पर टूटा गर्मी का कहर, लू लगने से भाई-बहन की मौत

भीषण गर्मी में अचानक भाई-बहन की तबीयत बिगड़ गई, जब तक परिजन अस्पताल लेकर पहुंचे तब तक दोनों की हो चुकी थी मौत…

ग्वालियरMay 29, 2024 / 07:36 pm

Shailendra Sharma

heat wreaks havoc
मध्यप्रदेश में भीषण गर्मी अब मौत बनती जा रही है। मामला ग्वालियर (gwalior) का है जहां गर्मी का (heat) कहर एक परिवार पर टूटा और घर के दो बच्चों को निगल गया। दोनों बच्चे आपस में भाई-बहन (brother sister) थे जिनकी लू (Loo) लगने से मौत (death) हो गई। घटना ग्वालियर के उपनगर मरटापुरा की है। दोनों बच्चे अपनी मां व दादी के साथ कैलारस से लौट रहे थे और इसी दौरान जौरा के पहले उनकी तबीयत बिगड़ने लगी थी।

48 डिग्री टेम्प्रेचर में बिगड़ी तबीयत


मिली जानकारी के मुताबिक ग्वालियर उपनगर के रमटापुरा में रहने वाले एक मजदूर परिवार पर गर्मी मौत बनकर टूटी और नाबालिग बच्चों भाई-बहन ने अपनी जान गंवा दी। बताया गया है कि 12 साल की बहन मोना और 10 साल का भाई अभिषेक 48 डिग्री टेम्परेचर में अपनी मां व दादी के साथ करीब 100 किलोमीटर से ज्यादा दूर मुरैना जिले के कैलारस के एक गांव ऑटो रिक्शा से गए थे। मंगलवार को जब वो वापस लौट रहे थे तभी रास्ते में मोना की तबीयत खराब हो गई। किसी तरह मां ने बेटी को संभाला और घर तक लेकर आई, घऱ पर मेडिकल से लाकर दवाई दी लेकिन तभी उसकी तबीयत और बिगड़ गई और साथ ही बेटा अभिषेक भी अचानक बीमार होकर कुर्सी से गिर पड़ा।
यह भी पढ़ें

Indore Satta Market: फलोदी के बाद इंदौर सट्टा बाजार का बड़ा दावा, कांग्रेस में जश्न की तैयारी

brother and sister died due to heat stroke

अस्पताल लेकर पहुंचे तब तक हो चुकी थी देर

मां परिवार के सदस्यों के साथ तुरंत दोनों बच्चों को लेकर ग्वालियर के बिरला अस्पताल पहुंची जहां पहुंचते ही डॉक्टर ने दोनों बच्चों को मृत घोषित कर दिया। डॉक्टरों ने बच्चों की मौत को प्रारंभिक तौर पर गर्मी से बताया। लेकिन स्वास्थ्य विभाग को कोई सूचना नहीं दी। इस बारे में जब मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर आरके राजोरिया से बात की गई तो उन्होंने कहा कि उन्हें इस मामले की जानकारी नहीं है। यदि बच्चे अस्पताल गए थे तो अस्पताल को इस बारे में जिला प्रशासन अथवा सीएमएचओ को अवगत कराना था। ऐसा क्यों नहीं किया गया है, इसे लेकर वो अस्पताल प्रबंधन को नोटिस जारी कर रहे हैं।
यह भी पढ़ें

Indore Satta Market: दिग्विजय सिंह के आखिरी चुनाव को लेकर फलोदी के बाद इंदौर सट्टा बाजार की चौंकाने वाली भविष्यवाणी


Hindi News/ Gwalior / heat stroke: परिवार पर टूटा गर्मी का कहर, लू लगने से भाई-बहन की मौत

ट्रेंडिंग वीडियो