भारी वाहनों ने बनाया कालोनी से निकलने का रास्ता

वाहनों का कॉलोनी के रास्ते से गुजरने पर जहां लोग दुर्घटनाओं का शिकार हो चुके हैं रहवासियों ने जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन से कार्रवाई की मांग की है ताकि लोगों के जीवन को संकट में डालने से बचाया जा सके।

ग्वालियर. वाहनों का कॉलोनी के रास्ते से गुजरने पर जहां लोग दुर्घटनाओं का शिकार हो चुके हैं तो वहीं भारी ट्रकों के गुजरने से सीवर और पानी की पाइप लाइनें टूटने के मामले भी सामने आ चुके हैं, जिस पर रहवासियों ने जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन से कार्रवाई की मांग की है ताकि लोगों के जीवन को संकट में डालने से बचाया जा सके। शहर के वार्ड क्रमांक 1 में स्थित गरगज कॉलोनी के रहवासियों में इन दिनों दहशत का माहौल है। मामला कॉलोनी में आने वाले भारी वाहनों से जुड़ा हुआ है। दरअसल बहोड़ापुर थाने के सामने से हाईवे गुजरता है, जहां अक्सर चेकिंग पॉइंट से बचने के लिए भारी माल वाहक ट्रक आदि गरगज कॉलोनी के रास्ते से मुड़ जाते हैं। रहवासी उत्कर्स पांडे ने पत्रिका एक्सपोज से मामले की समस्या को साझा करते हुए बताया कि कॉलोनी का रास्ता सकरा होने से वहां वाहनों के निकलने से जाम लग जाता है। इसके चलते सैकड़ों वाहनों का धुआं कॉलोनी की गलियों में भर जाता है। इसके चलते कॉलोनी में वायु प्रदूषण बढ़ जाने से लोगों का रहना मुश्किल हो गया है। कई लोग दुर्घटनाओं का शिकार हो चुके हैं। इसलिए प्रशासन से जल्द से जल्द मामले में कार्रवाई करना चाहिए। ताकि बच्चों, महिलाओं बुजुर्गों को किसी भी हादसे से बचाया जा सके।

हो चुके हैं कई विवाद

रहवासियों कि माने तो हाइवे के वाहन डायवर्ट हो जाने से कॉलोनी में अशांति का माहौल बना हुआ है। वाहन चालकों को रोकने की कोशिश करने पर कई बार विवाद भी हो चुके हैं। वहीं दुर्घटनाओं में कॉलोनी के कई लोग घायल भी हो चुके हैं। इसके बावजूद प्रशासन की ओर से कोई प्रयास नहीं हो रहे हैं। रहवासियों ने कहा कि पुलिस को इस मामले में पुख्ता कार्रवाई करना चाहिए। उन कारणों पर भी एक्शन होना चाहिए जिनकी वजह से वाहन चालक रास्ता बदलने को मजबूर हो जाते हैं। लोगों ने कहा कि वह अस्थाई रूप से कई बार रोड पर भारी वाहनों के प्रवेश को लेकर रोक लगा चुके हैं लेकिन अस्थाई प्रयासों से राहत नहीं मिल रही है। इसलिए प्रशासन को जनहित में इस मामले में तेजी से दखल देना चाहिए।

Show More
राजेश श्रीवास्तव
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned