scriptHigh court seeks response from six collectors, adulteration in milk | हाईकोर्ट ने छह कलेक्टरों से दूध के मामले को लेकर मांगा जवाब | Patrika News

हाईकोर्ट ने छह कलेक्टरों से दूध के मामले को लेकर मांगा जवाब

हाईकोर्ट , श्योपुर, दतिया, श्योपुर और गुना कलेक्टर को देना होगा जवाब, दूध में मिलावट रोकने के क्या किया ?

ग्वालियर

Published: November 19, 2021 08:19:54 pm

ग्वालियर. उच्च न्यायालय की ग्वालियर खंडपीठ ने छह जिलों के कलेक्टर से पूछा है कि बताओ मिलावटी दूध पर रोक लगाने के लिए क्या प्रयास कर रहे हैं। भिंड, मुरैना, श्योपुर, दतिया और गुना जिलों के कलेक्टरों को इसका जवाब प्रस्तुत करना होगा। इस प्रकरण में अगली सुनवाई 14 दिसंबर को होगी।

milk.png

जस्टिस रोहित आर्या और जस्टिस दीपक कुमार अग्रवाल की युगलपीठ ने अवमानना याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि मिलावटी दूध सार्वजनिक महत्व का विषय है। जनता को दिए जाने वाला दूध धीरे-धीरे मिलावटी होता जा रहा है, जो लोगों के स्वास्थ्य कर प्रतिकूल असर डाल रहा है। खासतौर पर बच्चों के लिए खतरा पैदा कर रहा है। स्वास्थ्य के लिए खतरनाक मिलावटी दूध रोकने के लिए पूरे प्रयास करना चाहिए।

Must See:पहली बार एम स्ट्राइप इकोलॉजिकल ऐप से जंगल में गणना

अतिरिक्त महाधिवक्ता को कहा-इसका पूरा रेकॉर्ड रखें
हाईकोर्ट ने अतिरिक्त महाधिवक्ता एमपीएस रघुवंशी को निर्देश दिए कि वह भिंड, मुरैना, श्योपुर, दतिया और गुना के कलेक्टर से मिलावट रोकने के लिए क्या प्रयास किए जा रहे है और जिलों में चल रहे मिलावटी दूध कोरोकने क्या योजना है इसको रिकॉर्ड में रखें। इस मामले में याचिका वर्ष-2019 में लगाई थी और वर्तमान में इन जिलों के कलेक्टर का तबादला हो गया है अभिभाषक उमेश कुमार बोहरे ने वर्तमान कलेक्टर के नाम जोड़ने हाईकोर्ट में आवेदन दिया था, जिसे स्वीकार कर लिया गया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.