गोडसे की ज्ञानशाला पर खड़ा हुआ सियासी विवाद, हिंदू महासभा ने किया आयोजन

हिंदू महासभा ने महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे की ज्ञानशाला का आयोजन किया, पूर्व मंत्री ने सीएम से की कार्रवाई की मांग

By: Shailendra Sharma

Published: 10 Jan 2021, 06:14 PM IST

ग्वालियर. ग्वालियर में हिंदू महासभा के द्वारा नाथूराम गोडसे की ज्ञानशाला का आयोजन किए जाने पर सियासी बवाल मचता नजर आ रहा है। हिंदू महासभा ने हर दौलतगंज स्थित अपने कार्यालय में गोडल की ज्ञानशाला का उद्घाटन रविवार को किया और ज्ञानशाला के जरिए गोडसे के प्रेरणा स्त्रोत रहे महापुरुषों की कुर्बानियों का प्रचार प्रसार करने की बात कही है। वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस विधायक और पूर्व मंत्री डॉ. गोविंद सिंह ने गोडसे की ज्ञानशाला आयोजित होने पर बीजेपी पर निशाना साधा है और प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान से कार्रवाई की मांग की है।

 

गोडसे की पुण्यतिथि और जयंती के बाद अब ज्ञानशाला
बता दें कि हिंदू महासभा की ओर से ग्वालियर में गोडसे की जयंती और पुण्यतिथि मनाई जाती रही है और अब ज्ञानशाला का आयोजन किया गया है। रविवार को कार्यालय में वीर सावरकर, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की स्थापना करने वाले डॉक्टर केशव बलिराम हेडगेवार और श्यामा प्रसाद मुखर्जी के पोस्टर लगाए गए है और गोडसे की ज्ञानशाला का शुभारंभ किया गया। इस दौरान भगत सिंह और चंद्रशेखर आजाद के पोस्टर्स नजर नहीं आए।

gs.jpg

गोविंद सिंह ने साधा बीजेपी पर निशाना
महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे की ज्ञानशाला का हिंदू महासभा की ओर से आयोजन किए जाने पर पूर्व मंत्री और लहार विधायक डॉ. गोविंद सिंह ने बीजेपी पर निशाना साधा है। डॉक्टर गोविंद ने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा और आरएसएस की सरकार बनने के बाद महात्मा गांधी के हत्यारे को महामंडित करने का काम किया जाता है। जिन महात्मा गांधी को पूरी दुनिया आदर्श मानती है उनके हत्यारे के नाम पर ज्ञानशाला का आयोजन किया जाना हत्या को बढ़ावा देने के समान है। गोविंद सिंह ने सीएम शिवराज सिंह से मांग करते हुए कहा कि जिस तरह से प्रदेश में माफियाओं पर कार्रवाई हो रही है उसी तरह से इस मामले में भी कार्रवाई होनी चाहिए और अगर कार्रवाई नहीं होती है तो ये माना जाएगा कि इन लोगों को मुख्यमंत्री का संरक्षण प्राप्त है।

 

गोडसे को लेकर पहले भी हो चुका है बवाल
बता दें कि इससे पहले 15 नवंबर 2017 को ग्वालियर में हिंदू महासभा ने नाथूराम गोडसे का मंदिर बनवाकर गोडसे की मूर्ति की स्थापना की थी और उस वक्त जमकर बवाल हुआ था। राजनीतिक बवाल के कारण तब तत्कालीन शिवराज सरकार और प्रशासन ने गोडसे की मूर्ति को वहां से हटवाकर जब्त किया था।

 

देखें वीडियो- सोशल मीडिया पर हवाई फायर का वीडियो हुआ था वायरल

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned