अस्पताल ऐसा जहां मरीज आते हैं डॉक्टर नहीं, क्या है मामला?

shyamendra parihar

Publish: Jan, 13 2018 05:57:19 PM (IST)

Gwalior, Madhya Pradesh, India
अस्पताल ऐसा जहां मरीज आते हैं डॉक्टर नहीं, क्या है मामला?

भितरवार के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सक ड्यूटी के लिए नहीं पहुंच रहे

ग्वालियर. बार-बार हंगामे के बाद भी भितरवार के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के हालात सुधर नहीं रहे हैं। शुक्रवार को भी डॅाक्टरों की कमी के चलते मरीजों को उपचार के लिए परेशान होना पड़ा। इस दौरान मरीजों ने जमकर नारेबाजी की। ड्यूटी के बाद भी ओपीडी में एक भी डॉक्टर न होने से मरीजों को उपचार नहीं मिल सका। इतना सब होने के बाद भी अस्पताल में कोई भी जिम्मेदार अधिकारी नहीं आया। इससे मरीज निराश होकर बिना उपचार के लौट गए।

सीएमओ के आदेश हवा में उड़ाए
स्वास्थ्य केन्द्र में चिकित्सकों के पांच पद हैं। इनमें से तीन पद भरे हुए हैं लेकिन किसी न किसी काम से दो डॉक्टर ज्यादातर अस्पताल से बाहर रहते हैं जिसके चलते ओपीडी खाली रहती है और मरीजों को उपचार नहीं मिल पा रहा है। शुक्रवार को अस्पताल की ओपीडी खाली रही। डॉ.यशवंत शर्मा गुरुवार की शाम को भोपाल ट्रेनिंग के लिए अस्पताल से रवानगी ले गए। डॉ. पीएन शाक्य की ड्यूटी आज मोहनगढ़ के छात्रावास में परीक्षण के लिए लगी थी। एकमात्र डॉ. गिर्राज गुप्ता अस्पताल में उपस्थित थे लेकिन शिशु रोग विशेषज्ञ होने के कारण वे ओपीडी में तो बैठे लेकिन बाल रोगियों का ही उन्होंने परीक्षण किया। सीएमएचओ द्वारा लागू किए गए साप्ताहिक चार्ट के हिसाब से डॉ. धर्मेन्द्र ठाकुर को ओपीडी में बैठना था लेकिन वे भी नदारत रहे।

अस्पताल में दोपहर 12 बजे तक करीब 200 मरीज जा पहुंचे थे। जब डॉक्टर नहीं आए तो मरीजों में रोष बढ़ गया। मरीज अस्पताल में हंगामा करने लगे। इसके बाद मरीज अस्पताल के बाहर गेट पर आ गए और नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन करने लगे। अस्पताल में कोई भी जिम्मेदार न होने के कारण करीब एक घंटे तक प्रदर्शन करते रहे।

मैं सुबह आठ बजे से अस्पताल की ओपीडी में बैठी हूं और दोपहर 12 बज गए हैं लेकिन अब तक कोई डॉक्टर ओपीडी में नहीं आया है। मुझे बुखार आ रहा है। अब मैं प्राइवेट डॉक्टर को दिखाने जा रही हूं।
बादामी बाई, मरीज मसूदपुर

मैं अपनी पत्नी को तबीयत खराब होने के कारण अस्पताल में दिखाने के लिए लाया हूं लेकिन यहां पता नहीं पड़ रहा कि डॉक्टर क्यों नहीं बैठे हैं। सुबह से दोपहर हो गईअस्पताल में भटकते-भटकते। पत्नी की हालत और खराब हो रही है इसलिए प्राइवेट डॉक्टर के पास जा रहा हूं।
कुमेर सिंह, परिजन भितरवार

जिन डॉक्टरों की चार्ट के हिसाब से ड्यूटी लगाई गई है अगर वे ड्यूटी पर उपस्थित नहीं हो रहे हैं तो उन्हें नोटिस दिया जाएगा।
डॉ.एसएस जादौन, सीएमएचओ, भितरवार

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

1
Ad Block is Banned