कैसा विकास ? पहले डामरीकरण फिर सडक़ खोदी...

शहर में अमृत योजना के तहत पानी और सीवर की लाइन डालने का कार्य किया जा रहा है। लाइन डालने में अधिकारी ध्यान ही नहीं देते हैं जिससे सडक़ को बार-बार खोदना पड़ता है। कुछ यही हाल है गांधी रोड का, यहां भी महज 10 दिन पहले ही सडक़ का डामरीकरण किया है वहां फिर सडक़ को खोदा जा रहा है

ग्वालियर. शहर में अमृत योजना के तहत पानी और सीवर की लाइन डालने का कार्य किया जा रहा है। लाइन डालने में अधिकारी ध्यान ही नहीं देते हैं जिससे सडक़ को बार-बार खोदना पड़ता है। कुछ यही हाल है गांधी रोड का, यहां भी महज 10 दिन पहले ही सडक़ का डामरीकरण किया है वहां फिर सडक़ को खोदा जा रहा है, जबकि आकाशवाणी रोड पर भी पहले लाइन डालकर रेस्टोरेशन भी कर दिया गया अब वहां फिर से खुदाई की गई है। अ मृत योजना के तहत शहर में खुदाई करते समय सडक़ों का ध्यान नहीं रखा जा रहा है। जिन सडक़ों की मरम्मत हो चुकी है उन्हें भी खोद दिया जाता है। जिसके कारण लोगों को रोजाना परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
गांधी रोड पर बीते चार दिनों से खुदाई का कार्य चल रहा है। यहां अभी हाल ही में निगम ने डामरीकरण करवाया है। ऐसे में फिर से खुदाई से सडक़ में गड्ढे हो जाएंगे और यहां से गुजरने में लोगों को परेशानी के साथ ही कॉर्डिनेशन के अभाव में पैसा भी बर्बाद होगा।
सूर्य नमस्कर चौराहे से आकाशवाणी चौराहे तक सडक़ को खोदकर पानी की लाइन डाली गई थी। कई दिनों बाद इसका रेस्टोरेशन किया गया। लेकिन अब फिर से इस सडक़ को आकाशवाणी पर खोद दिया गया है। ऐसे में रेस्टोरेशन के लिए अब लोगों को इंतजार करना होगा। शहर का मुख्य मार्ग होने के कारण यहां से रोजाना हजारों वाहन गुजरते हैं। इस दौरान सुरक्षा के भी इंतजाम नहीं किए जाते हैं। सही ढंग से रिफलेक्टर नहीं लगाते हैं जिससे रात के समय जब लोग यहां से गुजरते हैं तो दुघर्टना से बच सकें।

राजेश श्रीवास्तव Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned