दालों की स्टॉक लिमिट से हडक़ंप, तुअर समेत सभी दालों के दाम थोक में 100 से नीचे आए

- चार माह बाद लुढक़े दाम और भी कम हो सकती हैं दालों की कीमतें

By: Narendra Kuiya

Published: 12 Jul 2021, 08:04 AM IST

ग्वालियर. दालों पर स्टॉक लिमिट 200 टन तय करने के बाद स्थानीय बाजारों में हडक़ंप मचा हुआ है। इधर दाल बाजार में बिकने वाली सभी थोक दालों की कीमतें 100 रुपए से नीचे आ चुकी हैं। करीब तीन से चार माह बाद यह स्थिति पहुंची है। थोक में दालों के दामों के गिरने का असर फुटकर बाजार पर भी देखने को मिला है। पिछले पांच दिनों में यहां भी दाम कम हुए हैं। हालांकि स्टॉक लिमिट पर थोक और फुटकर कारोबारी खुलकर विरोध दर्ज करा रहे हैं, पर इससे आमजन को राहत मिल रही है।

दालों की कीमतों की स्थिति
दालें थोक में कीमतें फुटकर में कीमतें
तुअर दाल 90-98 रुपए 100-105 रुपए
उड़द छिलका 70-75 रुपए 95-100
मूंग छिलका 64-74 रुपए 85-90
मूंग मोगर 80-85 रुपए 95-100
चना दाल 59-64 रुपए 70-75 रुपए
(नोट - दालों की थोक कीमतें दाल बाजार और फुटकर कारोबारियों के मुताबिक)

स्टॉक क्लियर करने में जुटे व्यापारी
बाजार के जानकारों के मुताबिक स्टॉक क्लियर करने के लिए व्यापारी थोक बाजार में दालों को औने-पौने दाम में बेचने पर मजबूर होंगे, क्योंकि ऐसा नहीं करने पर उन पर कार्यवाही का डर बना रहेगा। ऐसी स्थिति में थोक और फुटकर दोनों ही बाजारों में कीमतें टूटने की संभावना है। पर इससे कारोबारियों को बड़ा नुकसान होना तय है।

ये किया है नियम
जमाखोरी और मूल्यवृद्धि को रोकने के लिए केंद्र सरकार ने अक्टूबर, 2021 तक मूंग को छोडक़र अन्य सभी दालों पर स्टॉक लिमिट लगाई है। इसके चलते थोक व्यापारी किसी एक दाल का 100 टन और सभी दालों का कुल 200 टन से अधिक स्टॉक नहीं रख सकेंगे। जबकि फुटकर व्यापारियों के लिए पांच टन की सीमा तय की गई है। वहीं दाल, मिलें पिछले तीन माह के उत्पादन के बराबर या स्थापित उत्पादन क्षमता का 25 फीसदी स्टॉक रख सकेंगी।

5 से 10 रुपए किलो कम हुए दाम
दालों के थोक कारोबारी विशाल गोयल ने बताया कि पिछले सात दिनों में दालों में करीब 5 से 10 रुपए किलो की गिरावट हुई है। दालों पर स्टॉक लिमिट तय करने के चलते ऐसे हालात बने हैं और आगे भी दालों में गिरावट का दौर देखने को मिल सकता है। फुटकर किराना कारोबारी अरुण खंडेलवाल ने बताया कि इन दिनों सहालग के चलते दालों में थोड़ी-बहुत पूछ-परख बनी हुई है, आगे वह भी खत्म हो जाएगी।

Narendra Kuiya Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned