भीषण बारिश: बारिश से हाहाकार, नदियां उफान पर, नाले में बहा किशोर, 36 को सेना ने बचाया

भीषण बारिश: बारिश से हाहाकार, नदियां उफान पर, नाले में बहा किशोर, 36 को सेना ने बचाया

Gaurav Sen | Publish: Sep, 09 2018 10:52:36 AM (IST) Gwalior, Madhya Pradesh, India

भीषण बारिश: बारिश से हाहाकार, नदियां उफान पर, नाले में बहा किशोर, 36 को सेना ने बचाया

ग्वालियर/श्योपुर/शिवपुरी। बंगाल की खाड़ी में बने सर्कुलेशन के कारण अंचल में इन दिनों निरंतर बारिश हो रही है। ग्वालियर-अंचल में लगातार हो रही बारिश का कहर श्योपुर व शिवपुरी जिले में जमकर बरपा। शुक्रवार-शनिवार की रात हुई मूसलधार से बारिश के बाद श्योपुर जिले में नदी-नाले उफान पर आ गए। जिले का संपर्क भी अन्य शहरों से कट गया। शिवपुरी के करैरा पुला गांव में पानी से घिरे 36 लोगों को निकालने के लिए सेना बुलानी पड़ी। हेलिकॉप्टर की मदद से लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया। कोलारस व बदरवास में सैकड़ों कच्चे मकान ढहने से कई परिवार बेघर हो गए। वहीं ग्वालियर में दिनभर हवाओं के साथ बारिश की फुहारें चलती रहीं। बदले मौसम के कारण शनिवार को दिन का तापमान 5 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई।

ग्राम पांडोल में नाले में किशोर सलमान (14) की बहने से मौत हो गई। वहीं नदियों में उफान आने से श्योपुर-कोटा, श्योपुर-ग्वालियर, श्योपुर-मुरैना, श्योपुर-बांरा हाइवे बंद हो गए। गुप्तेश्वर मंदिर पर कदवाल नदी को जलस्तर बढऩे से तीन लोग फंस गए थे, जिन्हें रेस्क्यू कर निकाला गया। श्योपुर शहर में 24 घंटे में 110 मिमी बारिश दर्ज की गई, वहीं जिलेभर में 24 घंटे में 69 मिमी औसत बारिश हुई। अपर ककैटो के 10 मेंं 7 गेट खोलने पड़े हैं। शिवपुरी हाइवे पर सेसइपुरा के निकट स्थित कूनो नदी की तेज धार और उफान में रियासतकालीन पुल एक का 50 मीटर लंबा स्लैब बह गया। इस वजह से पुल में 50 मीटर लंबा और 3 फीट गहरा गड्ढा हो गया है। सिंध नदी में पानी अधिक आने से मड़ीखेड़ा डैम के पहली बार सभी 10 गेट खोलने पड़े। जिससे कई गांव पानी की चपेट में आ गए।

बांधों की स्थिति

बांध लेवल वर्तमान
तिघरा 739 फीट फुल
मड़ीखेड़ा 346.25 मी. फुल
पगारा डैम 654 फीट ओवरफ्लो
आवदा 42.35 फीट ओवरफ्लो
अपर ककैटो 372 मीटर 370 मीटर



हेलीकॉप्टर से रेस्क्यू, बचाव दल बने फरिश्ते
करैरा के पुला गांव में पानी से घिरे महिला-पुरुष व बच्चों की सूचना मिलते ही पुलिस व प्रशासन सहित आईटीबीपी की रेस्क्यू टीम मौके पर पहुंची, लेकिन एक तरफ नदी व दूसरी तरफ नाले में तेज बहाव होने से रेस्क्यू टीम ग्रामीणों तक नहीं पहुंच सकी। बाद में सेना के हेलीकॉप्टर को मौके पर बुलवाया गया जिससे सभी ग्रामीणों को पांच किमी दूर बहगंवा गांव में छोडकऱ आया।

मौसम विज्ञानी बोले- लौटकर आएगी गर्मी
मौसम विज्ञानी डीपी दुबे ने बताया कि बंगाल की खाड़ी से छत्तीसगढ़ होते हुए मध्य प्रदेश में मानसून बना हुआ था, जिससे ग्वालियर, मंदसौर, रतलाम आदि जगहों पर बारिश हो रही है। दो दिन बाद फिर से मौसम में बदलाव आएगा, गर्मी फिर से लौट कर आएगी। यह लो प्रेशर एरिया के बनने से हुआ है।

जननी एक्सप्रेस बही
गुना, राजगढ़ और अशोकनगर: अशोकनगर में रात में गर्भवती को लेने जा रही जननी एक्सप्रेस नई सराय रोड पर तेज बहाव में बह गई। ड्राइवर ने कूदकर जान बचाई। तेज बारिश से शहर में सौ से ज्यादा कच्चे घर गिर गए। कालीपीठ, राजस्थान का मार्ग बंद हो गया। अजनार नदी का रपटा पार करते समय एक युवक बह गया।
उसकी तलाश की जा रही है।

huge rain in gwalior chambal region 36 rescued by army

शिवपुरी : करैरा पुला गांव में बाढ़ में फंसे ग्रामीणों को निकालते वायुसेना के जवान।

huge rain in gwalior chambal region 36 rescued by army

"मरीज को खाट पर ले गए: पटेरा के ग्राम चीलघाट में ग्रामीण पुल पर बह रहे पानी में से मरीज को खाट पर लिटाकर इलाज कराने कुम्हारी स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे"

 

huge rain in gwalior chambal region 36 rescued by army

टूटेगा रेकार्ड
सीजनल बारिश एक जून से 30 सितंबर तक 790 एमएम होती है। इस बार अभी तक 777.8 एमएम बारिश दर्ज की गई है। कई वर्षों बाद इस बार सीजनल बारिश का रेकॉर्ड टूटने जा रहा है।

huge rain in gwalior chambal region 36 rescued by army

"श्योपुर. कदवाल नदी के पास बने गुप्तेश्वर मंदिर डूबने से फंसे तीन लोगों को रेस्क्यू कर लाते जवान"

Ad Block is Banned