जीवन में सफलता पाने के लिए अपनी कमजोरियों को पहचानें

जीवन में सफलता पाने के लिए अपनी कमजोरियों को पहचानें
जीवन में सफलता पाने के लिए अपनी कमजोरियों को पहचानें

Prashant Kumar Sharma | Updated: 18 Sep 2019, 07:20:20 AM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

आइपीएस मनोज शर्मा के जीवन संघर्ष पर आधारित पुस्तक ट्वेल्थ फेल का विमोचन

ग्वालियर यदि आप जीवन में सफल होना चाहते हैं आपको अपनी कमजोरियों को जानना बेहद जरुरी हैं क्योंकि इन कमजोरियों पर विजय पाये बिना सफलता प्राप्त नहीं की जा सकती। यदि कोई स्टूडेंट्स अपनी लाइफ में किस परीक्षा में अनुतीर्ण हो जाता है तब उसे निराश नहीं होना चाहिये क्योंकि एक असफलता जीवन में सफल व्यक्ति बनने से नहीं रोक सकती। आइपीएस मनोज शर्मा ने यह बात उनके जीवन पर आधारित पुस्तक ट्वेल्थ फेल के विमोचन अवसर पर कही। आइपीएस मनोज शर्मा वर्तमान में एडिशनल कमिश्नर मुम्बई के पद पर कार्यरत है।
सिटी सेंटर स्थित बाल भवन में मंगलवार को हुए कार्यक्रम में उन्होंने शहर के युवाओं एवं छात्रों को सम्बोधित करते हुए कहा कि मैं अपने शुरूआती छात्र जीवन में एक औसत छात्र था। नवी और दसवीं में थर्ड डिवीजन पास हुआ, उसके बाद बारहवीं मे फेल होने के बाद मेरे जीवन में एक घटना घटित हुई। जिसने मुझमें आइपीएस, आइएएस बनने की ललक पैदा कर दी। एक औसत छात्र होने के कारण मेरी इंग्लिश बहुत ज्यादा अच्छी नहीं थी, लेकिन मित्रों एवं शुभचिंतको के सहयोग से मैं 2005 में आइपीएस बनने में सफल हुआ। यदि पूरी लग्न, एकाग्रता और ईमानदारी के साथ काम किया जाये, तो जीवन में कोई भी कार्य कठिन नहीं हैं। जो स्टूडेंट्स यह सोचते हैं की हमारे पास धन का अभाव हैं, हम किसी पिछड़े इलाके से हैं, इंग्लिश में कमजोर हैं, जीवन और परिवार में कई परेशानियां हैं, इस वजह से हम सफल नहीं हो सकते। उन्हें सबसे पहले अपनी इस नकारात्मक सोच को दूर करने की आवश्यकता है, क्योंकि सिर्फ यही सोच ही उन्हें आगे बढऩे से रोकती है। उन्होंने कहा कि जिस दिन आप अपने लक्ष्य को पाने में सफल हो जाते हैं उस दिन यह समस्याएं समाप्त हो जाती हैं।
टॉप पर पहुंचने का माद्दा रखें
आईपीएस मनोज शर्मा ने कहा की जीवन में आप जो काम कर रहे हैं उसमें टॉप पर पहुंचने का माद्दा एवं जिद होना जरूरी है। यदि आपमें सफलता को पाने की जिद एवं माद्दा है तब आपको सफल होने से कोई नहीं रोक सकता। आपके पास आपकी बुराई और अच्छाइयों को ईमानदारी से आपको बताने वाले मित्रों का साथ होना भी बेहद जरूरी है। अच्छे मित्रों के साथ से संघर्ष की राह कुछ आसान हो जाती हैं।
ये रहे मौजूद
कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार जगदीश तोमर ने की। कार्यक्रम में श्रद्धा शर्मा आईआरएस, डॉ.अनुराग पाठक लेखक आदि उपस्थित थे।

जीवन में पॉजिटिव एटीट्यूड के साथ आगे बढें़
मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित कलेक्टर अनुराग चौधरी ने कहा जब भी कोई व्यक्ति किसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारियां करता है तब उसके जीवन में कई परेशनियां आती हैं। स्कूल और कॉलेज में भी कम माक्र्स आने व फेल होने पर कई छात्र निराश होकर आत्मघाती कदम उठा लेते हैं उन्हें अपने पेरेंट्स एवं रिलेटिव्स से पूछना चाहिये वह बताएंगे की उनमें सफल होने की काबिलियत हैं। असफलताओं से निराश होकर आत्महत्या करने वाले छात्रों पुस्तक से प्रेरणा लेनी चाहिए। वहीं एसपी नवनीत भसीन ने कहा कि जीवन में पॉजिटिव एटीट्यूड के साथ हमेशा आगे बढ़ता रहना चाहिए क्योंकि यह एटीट्यूड जीवन में आने वाली नकरात्मकता एवं असफलता को दूरकर देती है। जब भी आप कोई कॉम्पिटिशन की तैयारी करें, अपने बेस्ट फे्रंड्स के साथ एक ग्रुप बना ले सभी लोग एक-एक टॉपिक बांट कर तैयारी करें और एक दूसरे को पढ़ायें। इससे सफलता पाने में आसानी मिलेगी। उन्होंने बताया कि मैं और मेरे दोस्त भी परीक्षा इसी तरह अपनी तैयारियां किया करते थे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned