पुराने अपराधियों पर कड़ी नजर रखना जरूरी: परिहार

पुराने अपराधियों पर कड़ी नजर रखना जरूरी: परिहार
पुराने अपराधियों पर कड़ी नजर रखना जरूरी: परिहार

Rajesh Shrivastava | Updated: 13 Sep 2019, 09:01:33 PM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

हत्या, लूट या फिर नशाखोरी सभी के लिए यह क्षेत्र बदनाम है। कई बाहर के अपराधियों ने भी यहां ठिकाना बना रखा है। आए दिन गोली चलना या रंगदारी जैसे मामले सामने आते हैं। ऐसे में हजीरा थाने के टीआई के लिए अपराध कंट्रोल करना एक बड़ी जिम्मेदारी है।

ग्वालियर. हजीरा इलाका अपराधियों का गढ़ माना जाता है। हत्या, लूट या फिर नशाखोरी सभी के लिए यह क्षेत्र बदनाम है। कई बाहर के अपराधियों ने भी यहां ठिकाना बना रखा है। आए दिन गोली चलना या रंगदारी जैसे मामले सामने आते हैं। ऐसे में हजीरा थाने के टीआई के लिए अपराध कंट्रोल करना एक बड़ी जिम्मेदारी है। वर्तमान में थाने की कमान टीआई आलोक परिहार संभाले हुए है। उन्होंने अलग ही रणनीति तैयार की है जिससे यह अपराधी काबू में आ सके। इसके अलावा पब्लिक से बेहतर तालमेल भी बनाए हुए। उनके साथ बैठक जनसंवाद करते हैं। यही वजह है कि उन्हें अपराधियों की जानकारी मिलती रहती है। पत्रिका ने बढ़ती वारदातों को लेकर उनसे कुछ सवालों पर बातचीत की।

हजीरा टीआई आलोक परिहार से जब पूछा गया कि हजीरा क्षेत्र मेंं अपराधों की भरमार है, किस तरह कंट्रोल करते हैं। इस पर उन्होंने कहा कि हमने अपराधियों की सूची तैयार कर चार भागों में बांटा है। पहले नंबर पर पुराने अपराधी, दूसरा सजाफ्ता, तीसरा नए उभर रहे अपराधी, चौथा जो पुराने अपराधी हैं और वर्तमान में शांत बैठे हुए हैं। ऐसे सभी अपराधियों पर नजर रखी जाती है। इसके बाद रिपोर्टर ने अपराधियों के पकडऩे को लेकर बनाई रणनीति से कोई फायदा होने की बात कही। जिस पर टीआई परिहार बोले कि काफी फायदा मिला है जबसे मैंने इस थाने की कमान संभाली है 300 वांरटी पकड़े गए। कई पुराने मामलों के आरोपियों को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे पहुंचाया है। क्षेत्र में स्मैक, गांजा अन्य नशीले पदार्थ भारी मात्रा में बेचे जाते हैं इन पर रोक लगाने के लिए क्या योजना है के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि नशा करने वाला हो या नशा बेचने वाला हमने ऐसे लोगों की सूची बना रखी है। लगातार ऐसे लोगों पर निगरानी रखी जा रही है। कई तस्कर और सप्लायर को पकड़ा भी है। क्षेत्र में अपराध पर लगाम के लिए इस तरह की योजना बनाई है कि इस पर उन्होंने कहा कि हमने अपने क्षेत्र को 4 बीट में बांट रखा है। किसी दिन एक बीट को टारगेट कर उस क्षेत्र में पूरा काम किया जाता है। इसके अलावा पब्लिक से बेहतर तालमेल और जनसंवाद कर रहे हैं। जिससे अपराधियों के बारे मेें जानकारियां मिलती है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned