परिवर्तनशील समाज में वही श्रेष्ठ है जो अपने कुल, समाज और देश को उन्नति की राह पर ले जाए

- समाजसेवी और व्यापारी स्व.गोपालदास अग्रवाल की तृतीय पुण्य तिथि पर हुआ विभूति सम्मान समारोह

By: Narendra Kuiya

Updated: 13 Sep 2021, 09:07 AM IST

ग्वालियर. समाजसेवी और व्यापारी स्व.गोपालदास अग्रवाल की तृतीय पुण्यतिथि पर रविवार को मप्र चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री में विभूति सम्मान समारोह संपन्न हुआ। कार्यक्रम में मौजूद वरिष्ठ अभिभाषक आरडी जैन ने कहा कि आज के डिजिटल युग में लोग 5 हजार किलोमीटर दूर बैठे व्यक्ति से 5 सेकंड में बात कर सकते हैं लेकिन एक घर में रहते हुए अपनों से कई दिनों तक बात नहीं कर पाते हैं। वर्तमान में लोग अपने बुजुर्गों को वृद्धाश्रम भेज रहे हैं, जबकि ऐसा नहीं होना चाहिए। इस तरह के कार्यक्रमों से आपसी दूरियां मिटती हैं। वैध डॉ.वैणी माधव शास्त्री ने कहा कि परिवर्तनशील समाज में उसे ही श्रेष्ठ माना जाता है, जो कि अपने कुल, समाज, ग्राम, प्रदेश व देश को उन्नति की ओर ले जाए। कुछ लोग ऐसे ही होते हैं और स्व.गोपालदास भी उन्हीं की तरह थे। विभूति सम्मान समारोह में चैंबर के पूर्व अध्यक्ष श्रीकृष्णदास गर्ग, विजय गोयल, ग्वालदास अग्रवाल, प्रशांत गंगवाल, वसंत अग्रवाल, मनोज सरावगी, अंकुर अग्रवाल, महेन्द्र साहू आदि मौजूद थे। संचालन स्व.गोपालदास स्मृति सेवा संस्थान के सचिव डॉ.प्रवीण अग्रवाल ने और आभार प्रदर्शन उपाध्यक्ष साधना जैन ने व्यक्त किया।

इनका हुआ सम्मान
विभूति सम्मान समारोह में ऐसे लोगों को सम्मानित किया गया जिन्होंने कठिन परिश्रम और संघर्षों से खुद को स्थापित किया। इस मौके पर शिक्षक दम्पत्ति धर्मेन्द्र सिंह तोमर एवं साधना तोमर, गनपतराम नीखरा, वरिष्ठ शिक्षाविद डॉ.एके वाजपेयी, वरिष्ठ चिकित्सक डॉ.डीआर मोघे, आशाराम राठौर एवं गोपालदास चौरसिया को शॉल-श्रीफल व सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया गया।

Narendra Kuiya Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned