नैना को देख गले से लगाया, आंखों से निकले आंसू

बसंत विहार में लावारिस हालत में मिली 3 साल की मासूम नैना को उसके माता पिता तलाश करते हुए चाइल्ड लाइन के दफ्तर पहुंच गए। 

ग्वालियर. बसंत विहार में लावारिस हालत में मिली 3 साल की मासूम नैना को उसके माता पिता तलाश करते हुए चाइल्ड लाइन के दफ्तर पहुंच गए। 

मां (ललिता) ने जैसे ही नैना को देखा, उसे गले से लगाकर रोने लगी। कुछ देर मां-बेटी ने बातचीत की। इसके बाद माता-पिता उसे लेकर घर चले गए। मूलत: महाराष्ट्र की रहने वाली नैना के पिता वीरू करीब दो साल पहले पत्नी ललिता और अन्य बच्चों को लेकर ग्वालियर मजदूरी करने आए थे। सुबह दोनों घर से मजदूरी पर निकल जाते, शाम को घर लौटते। मंंगलवार को भी वह मजदूरी करने चले गए थे। तभी नैना घर से अकेली निकल गई। वह बसंत विहार में लावारिस हालत में मिली। उधर शाम को वीरू घर लौटा तो नैना घर पर नहीं थी। वीरू उसे तलाश करने लगा। बुधवार को किसी ने उन्हें बताया नैना चाइल्ड लाइन के दफ्तर में है। दोपहर को वह उसे लेने पहुंच गए। नैना बसंत विहार तक कैसे पहुंची इस बारे में पता नहीं लगा है। 
यह है मामला
मंगलवार दोपहर बसंत विहार में डॉक्टर गौरव त्रिपाठी को नैना लावारिस हालत में मिली थी। उन्होंने उसे खाना खिलाया फिर पुलिस को खबर दी। पुलिस ने उसे चाइल्ड लाइन के हवाले कर दिया। नैना से काफी पूछताछ की, लेकिन वह अपने माता-पिता के बारे में कुछ बता नहीं सकी थी। 

Shyamendra Parihar
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned