लॉकडाउन का बेहतर इस्तेमाल कर भविष्य की चुनौतियों के लिए तैयार हो सकते है: डुरेहा

अंतरराष्ट्रीय वेबिनार में जुड़े देश-विदेश के प्रशिक्षक और खिलाड़ी

ग्वालियर. वैश्विक महामारी कोरोना ने उद्योग-धंधों के साथ ही खेल जगत पर भी व्यापक प्रभाव डाला है। बीते 50 दिनों से ज्यादा के समय से देश में कोई भी खेल से जुड़ी गतिविधि नहीं हो सकी है। इस सिलसिले में लक्ष्मीबाई राष्ट्रीय शारीरिक शिक्षा संस्थान ग्वालियर ने एक अंतरराष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन गया जिसमें खेल जगत के अलावा शारीरिक शिक्षा पर कोरोना के प्रभाव का आंकलन किया। खेल प्रबंधन के नए आयामों पर भी देश-विदेश के विशेषज्ञों ने अपनी राय रखी। विशेषज्ञों ने कहा कोरोना संक्रमण महामारी के बीच शिक्षकों और प्रशिक्षकों की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण है। कुलपति प्रो. दिलाप कुमार डुरेहा ने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रशिक्षकों से कहा, संकट काल हमेशा बदलावों का जनक रहा है। इस संकट की घड़ी का भी बेहतर इस्तेमाल कर हम भविष्य की चुनौतियों के लिए तैयार हो सकते हैं।


शारीरिक शिक्षा और खेल जगत पर कोरोना के प्रभावों पर चर्चा
यूएसए, पोलैंड और ऑस्ट्रेलिया के खेल विशेषज्ञों के साथ देश के कई नामी प्रशिक्षक वेबिनार से जुड़े। कोरोना के चलते लॉक डाउन में खेलों पर पड़े नकारात्मक प्रभाव और उससे उबरने के मुद्दे पर विस्तार से चर्चा की गई। फेसबुक लाइव के जरिये 25 हजार से ज्यादा लोग इस सत्र से जुड़े। सत्र के दौरान विशेषज्ञों ने घर पर ही शारीरिक और मानसिक स्तर पर खिलाडिय़ों को मजबूत रखने के टिप्स दिए। इस दौरान यह भी कहा गया कि इस समय शिक्षकों और प्रशिक्षकों की भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण है। खेल गतिविधियों को बढ़ाने के साथ ही स्पॉन्सरशिप और बिजनेस बढ़ाने जैसे मुद्दों पर ध्यान आकर्षित किया। फेसबुक लाइव में जुड़े दर्शकों ने विशेषज्ञों से सवाल भी पूछे। इस सत्र में 10 हजार से ज्यादा लोग जुड़े।


एलएनआईपीई के खेल प्रबंधन व प्रशिक्षण विभाग के हेड डॉ. केके साहू ने वेबिनार का संयोजन किया। संचालन का भार डॉ. आशीष फुलकर ने संभाला। वेबिनार में प्रमुख रूप प्रभारी रजिस्ट्रार प्रो. एमके सिंह, प्रो. एस मुखर्जी, प्रो. जोसेफ सिंह, डॉ. यतेंद्र सिंह के साथ एलएनआईपीई के शिक्षक, प्रशिक्षक और छात्र शामिल रहे।

Patrika
राहुल गंगवार Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned