जेयू में अवकाश के दिन बुलाया स्टाफ, 28 को घोषित हो सकता है रिजल्ट!

30 अक्टूबर से पहले जेयू द्वारा रिजल्ट घोषित करने का है प्लान,जीवाजी विश्वविद्यालय खुद ही करवा रहा है कॉपियों की जांच

By: monu sahu

Published: 27 Oct 2020, 07:01 PM IST

ग्वालियर। जीवाजी विश्वविद्यालय ने स्नातक अंतिम वर्ष और स्नातकोत्त्तर चतुर्थ सेमेटर की ओपन बुक पद्ति से करवाई गई परीक्षा की कॉपियों के बंडल लीड कॉलेजों से बीते दिनों जेयू में मंगा लिए है। जिसे रविवार के बाद सोमवार के भी अवकाश वाले दिन परीक्षा विभाग की तीस प्रतिशत स्टाफ को कार्य पर बुलाकर ओपन बुक पद्दति की कॉपियां चेक करवाई गई। परीक्षा विभाग के उपकुलसचिव राजीव मिश्रा ने बताया कि कॉपियों का मूल्यांकन का कार्य लगभग पूरा हो चुका है। विवि की ओर से परीक्षा परिणाम बनाने की तैयारी की जा रही है। उच्च शिक्षा विभाग ने 30 अक्टूबर तक रिजल्ट घोषित करने की गाइड लाइन निर्धारित की है।

लेकिन इससे पहले ही विवि की ओर से कुछ रिजल्ट 28 अक्टूबर को तो बाकि रिजल्ट डेडलाइन से पहले ही घोषित कर दिए जाएंगे। इसकी सभी तैयारियां लगभग पूरी कर ली गई है। उन्होंने बताया कि रविवार की तरह ही सोमवार को भी परीक्षा विभाग के 30 प्रतिशत स्टाफ को जेयू बुलाकर कॉपिया चेक सहित अन्य कार्य करवाया गया। यहां बता दें कोविड 19 के चलते इस बार ओपन बुक प्रणाली के माध्यम से यूजी तृतीय वर्ष और पीजी चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षाएं आयोजित की गई थी। वहीं इस बार जेयू की ओर से अंतिम वर्ष की परीक्षाओं को छोड़कर शेष परीक्षाओं में छात्रों को जनरल प्रमोशन दिया गया था। विवि के आदेश पर स्नातक तृतीय वर्ष की परीक्षा की कॉपियों का मूल्यांकन लीड कॉलेज में कराया जा रहा था। जबकि स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा की कॉपियों का मूल्यांकन जेयू की ओर से।

इन जिलों से मंगवाई गई हैं कॉपियांं
जेयू ने भिण्ड, मुरैना, शिवपुरी, अशोकनगर व श्योपुर सहित ऐसे लीड कॉलेज जिनके प्राचार्यों ने कॉपी चेक कराने में असमर्थता जाहिर की थी। जिसके बाद इन कॉलेजों से जेयू ने कॉपी मांगा ली है। चूकि इन कॉलेजों को ओपन बुक पद्दति की कॉपियों का कलेक्शन सेंटर बनाने के साथ ही कॉपी चेक कराकर अंक भेजने के निर्देश जेयू की ओर से दिए गए थे। इन कॉलेजों में पहुंचकर छात्रों ने कॉपी तो जमा कर दी थी लेकिन जरूरी सुविधाओं के अभाव जताते हुए इन कॉलेजों के प्राचार्यों ने कॉपियों को मूल्यांकन समय पर शुरू नहीं कराया।

जिसमें कुछ जिले के कॉलेजों ने आधी अधूरी ही कॉपी चेक कराई। उच्च शिक्षा विभाग के आदेश अनुसार जेयू को 30 अक्टूबर तक रिजल्ट घोषित करना है। इसलिए जीवाजी विवि ने जिन जिलों के लीड कॉलेजों में कॉपी चेक नहीं हो पाई है वहां से कॉपियों के बंडल को मंगा लिया है और विवि अपने स्तर पर इन कॉपियों को चेक करा रहा है। वहीं जिन शिक्षको को कॉपी के बंडल दिए गए हैं उनसे कहा गया है कि वह दो दिन के भीतर मूल्यांकन करके कॉपी जमा कराएं। ताकि समय सीमा के भीतर रिजल्ट घोषित हो सके।

30 प्रतिशत कर्मचारियों को बुलाया ऑफिस
जीवाजी विश्वविद्यालय ने मूल्यांकन सेल में काम करने वाले शिक्षकों सहित परीक्षा व गोपनीय विभाग के 30 प्रतिशत कर्मचारियों को अवकाश के दिन यानि रविवार और सोमवार को ऑफिस बुलाया और उनसे रिजल्ट संबंधी कार्य करवाया। उल्लेखनीय है कि इस बार स्नातक अंतिम वर्ष व स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमस्टर के रिजल्ट अलग तरीके से बनाया जा रहा है। इसके तहत ओपन बुक पद्दति की कॉपी से पचास फीसदी अंक और पूर्व की परीक्षाओं की चार्टों में 50 फीसदी अंकों को जोड़ कर रिजल्ट तैयार होगा।

monu sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned