11 साल की सरकारी नौकरी फिर भी 32 साल से नहीं सुन रहा कोई,ऐसी है इस युवक की समस्या

11 साल की सरकारी नौकरी फिर भी 32 साल से नहीं सुन रहा कोई,ऐसी है इस युवक की समस्या

monu sahu | Publish: Mar, 14 2018 05:01:59 PM (IST) Gwalior, Madhya Pradesh, India

यहां आने के बाद भी मेरी सुनवाई नहीं हो रही, अब मैं यहां न आऊं तो कौनसा दरवाजा खटखटाऊं

ग्वालियर। मैंने १९७६ सिंचाई विभाग में नौकरी शुरू की थी, १९८६ तक विभाग में रहा, इसके बाद अचानक मेरी सेवाएं समाप्त कर दी गईं। लगातार ११ साल तक विभाग में काम करने के बाद निकाले जाने से मुझे मानसिक आघात पहुंचा, तब से ३२ साल हो गए, काम छिन जाने के बाद बेकार हो गया हूं, भूखा रहा हूं, पागलों की तरह अधिकारियों के चक्कर लगा रहा हूं, इसके बाद भी कोई सुनवाई नहीं हुई। यहां आने के बाद भी मेरी सुनवाई नहीं हो रही, अब मैं यहां न आऊं तो कौनसा दरवाजा खटखटाऊं, किसको अपनी पीड़ा सुनाऊं ।

यह भी पढ़ें : चिता से पहले उठाई इस महिला की बॉडी,हत्या की वजह सुन आप भी रह जाएंगे हैरान

यह बात सिंचाई विभाग पूर्व कर्मचारी राकेश कुमार ने कलेक्टर जनसुनवाई में आवेदन देते समय बताई। राकेश का कहना था कि विभाग में उसका फंड जमा है, जिसको ब्याज सहित दिलवाने के साथ ही कोई काम भी दिलवाया जाए ताकि जीवन निर्वाह कर सके।

यह भी पढ़ें : GF से आठ साल शारीरिक संबंध बनाए,नायब तहसीलदार बनते ही दी ऐसी सजा

कलेक्टर जन सुनवाई में मंगलवार को 101 लोगों ने आवेदन दिए। इनकी सुनवाई कलेक्टर राहुल जैन सहित अपर कलेक्टर दिनेश श्रीवास्तव, जिपं सीईओ शिवम वर्मा, एडीएम शिवराज वर्मा, एसडीएम एचबी शर्मा, राघवेन्द्र पांडेय, सामाजिक न्याय विभाग के संयुक्त संचालक राजीव सिंह सहित अन्य अधिकारियों ने की।

यह भी पढ़ें : बड़ी खबर : शहीद की पत्नी ने कहा हमें रोना नहीं है,हम दुश्मनों को मिटा देंगे

इनको मिली मदद
राकेश कुशवाह को आर्थिक मदद दी गई और दिव्यांग महेन्द्र को स्वरोजगार दिलाने के निर्देश दिए।
चीनौर से आए रामू जाटव के आवेदन पर उसके पिता बीरबल की बीमारी का इलाज कराने को २० हजार रुपए की आर्थिक मदद दी।

यह भी पढ़ें : हड़ताल कर रही महिला कर्मचारियों के साथ हुआ ऐसा हादसा,अधिकारियों में मचा हड़कंप


बहादुरपुर-बिलौआ से आए राकेश कुशवाह की आंख का ऑपरेशन कराने को २० हजार रुपए की मदद दी गई।
लश्कर से आए महेन्द्र सिंह जाटव को स्वरोजगार के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned