जीरो से 60 अंक करने वालों को दिखाया जेयू से बाहर का रास्ता

जीवाजी यूनिवर्सिटी (जेयू) में सुविधा शुल्क लेकर छात्र की ओएमआर सीट में जीरो से 60 अंक देकर मार्कशीट बनाने वाले मामले में जांच कमेटी ने तीन कर्मचारियों

By: Gaurav Sen

Published: 10 Nov 2017, 03:33 PM IST

ग्वालियर। जीवाजी यूनिवर्सिटी (जेयू) में सुविधा शुल्क लेकर छात्र की ओएमआर सीट में जीरो से 60 अंक देकर मार्कशीट बनाने वाले मामले में जांच कमेटी ने तीन कर्मचारियों को दोषी पाया है। इनमें दो स्थाई और एक सर्विस प्रोवाइडर का कर्मचारी है। कुलपति प्रो.संगीता शुक्ला ने दो कर्मचारियों को निलंबित करने और एक को निष्काषित करने की अनुशंसा की है।


कुलपति के निर्देश पर जेयू रजिस्ट्रार डॉ.आनंद मिश्रा ने स्थाई कर्मचारी सुल्तान और अर्जुन को निलंबित और सर्विस प्रोवाइडर दीपक पाल को नौकरी से बर्खास्त करने के आदेश निकाल दिए हैं। जेयू प्रबंधन के इस निर्णय से उन लोगों में हड़कंप है जो छात्रों से सुविधा शुल्क लेकर उन्हें फेल से पास कर रहे हैं। वहीं ऐसे लोगों को संरक्षण देने वाले अधिकारी अब मामले से बचते नजर आ
रहे हैं।

पहले अधिसूचना, फिर एफआईआर

जेयू की मेडिकल शाखा से गुम हुई 26 ब्लैंक मार्कशीट के मामले में रजिस्ट्रार डॉ.आनंद मिश्रा का कहना है कि पहले वो अधिसूचना जारी करेंगे ताकि मार्कशीट का उपयोग न हो सके। इसके बाद वे विवि थाने में एफआईआर के लिए आवेदन देंगे। इस मामले की जांच के लिए कुलपति प्रो.संगीता शुक्ला ने तीन सदस्यीय जांच कमेटी बनाई है। जिसकी रिपोर्ट आना बांकी है।

 

चार्ट व मार्कशीट न लेने पर कुलपति ने लगाई फटकार

ग्वालियर। जीवाजी यूनिवर्सिटी में दो दिन से पटवारी पद के आवेदक यूजी फाइनल की मार्कशीट लेने के लिए हंगामा मचा रहे हैं। कुलपति प्रो.संगीता शुक्ला ने मामले की तहकीकात के लिए कोलकाता की कंपनी के प्रतिनिधि को बुलाकर फटकार लगाई तो उसका कहना था कि वो दो दिन से चार्ट और मार्कशीट देना चाह रहे हैं, लेकिन कोई भी जिम्मेदार कर्मचारी रिसीव नहीं कर रहा है। इतना सुनते ही कुलपति प्रो.शुक्ला ने गोपनीय विभाग के जिम्मेदार कर्मचारी बृजमोहन गोस्वामी को बुलाया। आते ही गोस्वामी के होश उड़ गए। उसने अपनी सफाई में कई बहाने बनाए लेकिन कुलपति ने रजिस्ट्रार डॉ.आनंद मिश्रा को कार्रवाई के लिए नोटशीट चलाई। जिसे रजिस्ट्रार ने प्रशासन के डीआर डॉ.आईके मंसूरी के पास भेज दिया। इसके बाद चार्ट और मार्कशीट रिसीव कर वितरित की गई। उल्लेखनीय है कि जेयू में पिछले तीन दिनों से छात्र हंगामा मचा रहे हैं। क्योंकि उन्हें ११ नवंबर तक पटवरी पद की परीक्षाओं के लिए आवेदन करना है।

ऑनलाइन अंक १५ तक करें अपडेट
जेयू ने सभी सरकारी और निजी कॉलेजों को तृतीय और पंचम सेमस्टर की परीक्षा के प्रायोगिक परीक्षाओं के अंक 15 नवंबर तक ऑनलाइन भेजने के निर्देश जारी किए हैं। परीक्षा नियंत्रक डॉ.राकेश कुशवाह के अनुसार जिन छात्रों के
प्रायोगिक अंक अपडेट नहीं होंगे उनके आगामी परीक्षाओं में एडमिड जारी नहीं किए जाएंगे।

Gaurav Sen
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned