scriptJyotiraditya Scindia at the Samadhi of Rani Laxmibai | रानी लक्ष्मीबाई को लेकर पूर्वजों पर गंभीर आरोप, अब ज्योतिरादित्य ने उठाया चौंकानेवाला कदम | Patrika News

रानी लक्ष्मीबाई को लेकर पूर्वजों पर गंभीर आरोप, अब ज्योतिरादित्य ने उठाया चौंकानेवाला कदम

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सिंधिया राजघराने की बदली परंपरा

ग्वालियर

Published: December 27, 2021 10:56:36 am

ग्वालियर. केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने रविवार को एक ऐसा कदम उठाया कि सियासी हल्कों में खलबली सी मच गई. ज्योतिरादित्य सिंधिया रविवार शाम को महारानी लक्ष्मीबाई की समाधिस्थल पर पहुंच गए और उन्हें नमन किया. उनका लक्ष्मीबाई की समाधि पर जाना इसलिए चर्चित रहा क्योंकि उनके पूर्वजों पर रानी लक्ष्मीबाई के विरोध में अंग्रेजों का साथ देने के गंभीर आरोप लगते रहे हैं. भाजपा में जाने के बाद आलोचक लगातार एक ही सवाल उठा रहे थे कि क्या सिंधिया अब रानी लक्ष्मीबाई की समाधि पर जाएंगेे.

scindia1.png
Jyotiraditya Scindia

आलोचकों को जवाब
सन 1857 के स्वतंत्रता संग्राम के बाद से ही आलोचक और हिंदूवादी नेता सिंधिया परिवार को रानी लक्ष्मीबाई का विरोधी बताते रहे हैं. सिंधिया के भाजपा में जाने के बाद से ही कांग्रेस और उनके आलोचक उनके रानी लक्ष्मीबाई की समाधि पर जाने को लेकर तंज कसते रहे हैं. सिंधिया ने रविवार को रानी लक्ष्मीबाई के समाधिस्थल पर पहुंचकर सभी को करारा जवाब दे दिया है. समाधि स्थल पर पहुंचकर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पुष्प अर्पित किए. वे यहां करीब 5 मिनिट तक रुके भी रहे.

schindhia.jpg

इतिहास में कितना सच
इतिहास की बात करें तो रानी लक्ष्मीबाई की मौत के बाद से ही सिंधिया परिवार उनसे गद्दारी किए जाने का आरोप झेलता रहा है. जब ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस नेता थे तब इस बात को लेकर उनपर लगातार आरोप लगाए जाते रहते थे. लक्ष्मीबाई से सिंधिया परिवार की कथित गद्दारी का कई किताबों में जिक्र है. इसलिए सन 1857 से ही सिंधिया परिवार इस बात को लेकर आलोचकों का निशाना बनता रहा है. अब ज्योतिरादित्य सिंधिया ने लक्ष्मीबाई की समाधि पर पहुंचकर सियासत को चौंका दिया है.

राजनैतिक हल्कों में भी खलबली
केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस कदम के बड़े राजनैतिक निहितार्थ निकाले जाने लगे हैं. ज्योतिरादित्य के रानी लक्ष्मीबाई की समाधि पर जाकर उन्हें नमन करने पर जहां कांग्रेसी चौंक उठे हैं वहीं भाजपा में भी कई नेता और उनके समर्थक हैरान रह गए हैं. दरअसल भाजपा में भी सिंधिया के राजनैतिक कद को लेकर जबर्दस्त खींचातानी मची हुई है.

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Nagar Panchayat Election Result: 106 नगरपंचायतों के चुनावों की वोटों की गिनती जारी, कई दिग्‍गजों की प्रतिष्‍ठा दांव परOBC Reservation: ओबीसी राजनीतिक आरक्षण पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, आ सकता है बड़ा फैसलाUP Election 2022: यूपी चुनाव से पहले मुलायम कुनबे में सेंध, अपर्णा यादव ने ज्वाइन की बीजेपीकेशव मौर्य की चुनौती स्वीकार, अखिलेश पहली बार लड़ेंगे विधानसभा चुनाव, आजमगढ के गोपालपुर से ठोकेंगे तालकोरोना के नए मामलों में भारी उछाल, 24 घंटे में 2.82 लाख से ज्यादा केस, 441 ने तोड़ा दमCameron Boyce ने BBL में रचा इतिहास, 4 गेंद में 4 बल्लेबाजों को किया आउटखत्म हुआ इंतज़ार! आ गया Tata Tiago और Tigor का नया CNG अवतार शानदार माइलेज के साथकोरोना का कहर : सुप्रीम कोर्ट के 10 जज कोविड पॉजिटिव, महाराष्ट्र में 499 पुलिसकर्मी भी संक्रमित
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.