scriptMadhavi Raje Scindia Death: कांग्रेस छोड़कर भाजपा में जाने पर ‘मां’ ने ही दिया था ज्योतिरादित्य सिंधिया का साथ, देखें PHOTOS | Jyotiraditya Scindia's mother supported him when he left Congress and joined BJP, see PHOTOS | Patrika News
ग्वालियर

Madhavi Raje Scindia Death: कांग्रेस छोड़कर भाजपा में जाने पर ‘मां’ ने ही दिया था ज्योतिरादित्य सिंधिया का साथ, देखें PHOTOS

Jyotiraditya Scindia mother death: माधवी राजे सिंधिया ने एम्स में सुबह 9:30 बजे अंतिम सांस ली। वे कुछ समय से वेंटिलेटर पर थीं।

ग्वालियरMay 16, 2024 / 08:34 am

Ashtha Awasthi

Madhavi Raje Scindia
Madhavi Raje Scindia Death: केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की मां माधवी राजे सिंधिया (Madhvi Raje Scindia death )का निधन हो गया है। बताया जा रहा है कि वे 70 साल की थीं। तीन महीनों से उनका स्वास्थ खराब चल रहा था। वे दिल्ली एम्स में भर्ती थीं। उनके निधन से दिल्ली से लेकर मध्य प्रदेश तक शोक की लहर दौड़ गई है। इस खबर के बाद से ग्वालियर राजघराने को बड़ी क्षति पहुंची है। उन्होंने दिल्ली एम्स में सुबह 9:30 बजे अंतिम सांस ली। वे कुछ समय से वेंटिलेटर पर थीं।
Madhavi Raje Scindia

नेपाल राजघराने से था संबंध (Madhavi Raje Scindia Death)

माधवी राजे सिंधिया (Madhvi Raje Scindia ) नेपाल राजघराने से संबंध रखती थी। उनके दादा शमशेर जंग बहादुर राणा नेपाल के प्रधानमंत्री थे। कांग्रेस के दिग्गज नेता माधवराव सिंधिया के साथ विवाह से पहले प्रिंसेस किरण राज्यलक्ष्मी देवी उनका नाम था। साल 1966 में माधवराव सिंधिया के साथ उनका विवाह हुआ था।
Madhavi Raje Scindia
मराठी परंपरा के मुताबिक शादी के बाद उनका नाम बदलकर माधवी राजे सिंधिया रखा गया था। पहले वे महारानी थीं, लेकिन 30 सितंबर 2001 को उनके पति और पूर्व केंद्रीय मंत्री माधवराव सिंधिया के निधन के बाद से उन्हें राजमाता के नाम से संबोधित किया जाने लगा।

ज्योतिरादित्य सिंधिया का मां ने दिया था साथ (Madhavi Raje Scindia Death)

मार्च 2020 में जब सिंधिया राजघराने के मुखिया ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस छोड़कर भाजपा में जाने का निर्णय लिया था, तो उस समय पूरा परिवार उनके साथ था। बेटा और पत्नी तो उनके फैसले में साथ थे ही, पर सबसे ज्यादा सपोर्ट उनकी मां माधवी राजे सिंधिया ने किया था।
Madhavi Raje Scindia
ज्योतिरादित्य कांग्रेस में पिता की विरासत छोड़कर जाने में संकोच कर रहे थे, लेकिन माधवी राजे ने मार्गदर्शक बनकर राह दिखाई थी। इसके बाद ही ज्योतिरादित्य ने इतना बड़ा फैसला लेकर अपनी दादी विजयाराजे सिंधिया की तरह बड़ा कदम उठाया था।

मिला था राजमाता का दर्जा (Madhavi Raje Scindia Death)

मराठी परंपरा के अनुसार, शादी के बाद उनका नाम बदलकर माधवी राजे सिंधिया रखा गया था। पहले वह महारानी थीं, लेकिन 30 सितंबर 2001 को उनके पति और पूर्व केंद्रीय मंत्री माधवराव सिंधिया के निधन के बाद उन्हें राजमाता के नाम से पुकारा जाने लगा।
Madhavi Raje Scindia
30 सितंबर 2001 को यूपी के मैनपुरी के पास एक विमान हादसे में 56 साल की उम्र में माधवराव सिंधिया का निधन हो गया था। माधवी राजे सिंधिया के दो बच्चे हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया के अलावा उनकी एक बेटी चित्रांगदा सिंह है। चित्रांगदा की शादी जम्मू कश्मीर रियासत के तत्कालीन युवराज और राजनेता विक्रमादित्य सिंह से हुई है।

Home / Gwalior / Madhavi Raje Scindia Death: कांग्रेस छोड़कर भाजपा में जाने पर ‘मां’ ने ही दिया था ज्योतिरादित्य सिंधिया का साथ, देखें PHOTOS

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो