कन्या पूजन के बाद किया माता को विदा

- प्रतिमाओं और जवारों का किया विसर्जन, जगह-जगह हुए भंडारे

By: Narendra Kuiya

Published: 25 Oct 2020, 10:51 PM IST

ग्वालियर. शारदीय नवरात्र का समापन नवमी के साथ रविवार को हो गया। नवमी की महापूजा के बाद घर-घर में कन्या भोज का आयोजन हुआ। इसके बाद उन्हें दान-दक्षिणा देकर विदा किया गया। नवमी के मौके पर नौ दिन से उपवास रखने वालों ने अपने व्रत भी खोले। तत्पश्चात ढोल-तासों के साथ देवी माता को विसर्जन के लिए सागर ताल ले जाया गया। यहां श्रद्धालुओं की खासी भीड़ मौजूद थी। वहीं नवरात्र के अंतिम दिन भी प्रमुख देवी मंदिरों पर श्रद्धालुओं का जमावाड़ा देखा गया। इसके साथ ही जगह-जगह भंडारों का आयोजन हुआ, जिसमें श्रद्धालुओं ने प्रसादी ग्रहण की।

बंगाली समाज ने की महानवमी की पूजा
बंगाली सोशल एंड कल्चरल ऐसोसिएशन के दुर्गा पूजा महोत्सव में मानस भवन में फूलबाग पर महानवमी पूजा का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मां दुर्गा के समक्ष पुष्पांजलि, कुमारी पूजा और सांध्य आरती की गई। 26 अक्टूबर सोमवार को यहां महादशमी की पूजा संपन्न होगी।

Narendra Kuiya Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned