10 लाख की फिरौती मांगने 3 साल के बच्चे का अपहरण, ऐसे सामने आई पूरी कहानी

10 लाख की फिरौती मांगने 3 साल के बच्चे का अपहरण, ऐसे सामने आई पूरी कहानी

monu sahu | Updated: 14 Jun 2019, 06:21:23 PM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

व्यवसायी की दुकान पर का करने वाले मिस्त्री ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर किया था अपहरण

ग्वालियर। जीवाजी गंज नेहरू पार्क रोड से एक व्यवसायी के तीन वर्षीय बालक का सुबह दस बजे अपहरण हो गया। सूचना के बाद पुलिस ने छह घंटे में मासूम को मुक्त करा लिया। व्यवसायी की दुकान पर काम करने वाले मिस्त्री ने दोस्तों के साथ मिलकर बच्चे का अपहरण किया था और आरोपी की बहन के गोपाल पुरा स्थित घर में छुपा दिया था। नेहरू पार्क रोड ऑरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स के पास व्यवसायी देवेन्द्र गुप्ता का मकान है। मकान में ऊपर ही परिवार रहता है और नीचे ऑटो पाट्र्स की दुकान है। दुकान पर संजय जाटव निवासी गोटे नगर उत्तपुरा पिछले दो साल से मिस्त्री का काम करता था। इसी का फायदा उठाकर संजय जाटव ने दोस्त ब्रजेश जाटव, सुनील जाटव के साथ मिलकर देवेन्द्र गुप्ता के मासूम बच्चे ग्रंथ 3 वर्ष के अपहरण की साजिश रची।

 

 

गुरुवार सुबह पौने दस बजे संजय ने बच्चे को घर से बुलाकर ले गया। घर से कुछ दूरी पर अन्य साथी मिले और बच्चे को उठाकर ले गए। आरोपी संजय बाद में कुछ समय बाद दुकान पर आ गया। इसलिए उस पर शक नहीं हुआ। उधर बच्चे गुम होने की सूचना पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही पुलिस सक्रिय हुई। पुलिस अधीक्षक यादव ने आसपास के सीसीटीवी कैमरे चेक किए। जिसमें जीवाजी गंज में एक कैमरे में संजय जाटव आगे और बच्चा ग्रंथ उसके पीछे था।

 

पुलिस ने जब संजय जाटव से पूछताछ की तो उसने पहले तो इंकार कर दिया। लेकिन पुलिस ने कड़ाई से पूछा तो उसने बच्चे का अपहरण करना स्वीकार किया। बच्चे को वह अपनी बहन पुष्पा के मकान पर गोपाल पुरा में छोड़ आया था। एसपी फोर्स के साथ गोपाल पुरा पहुंचे और वहां से बच्चे को मुक्त कराया। पुलिस ने संजय जाटव, बंटी व पुष्पा को फिलहाल हिरासत में ले लिया है। उनसे पूछताछ कर रही है।

 

 

 

child

दस लाख की फिरौती के लिए किया था मासूम का अपहरण
पुलिस ने आरोपियों से कड़ी पूछताछ की तब उन्होंने बताया कि दस लाख की फिरौती के लिए व्यवसायी के मासूम बच्चे का अपहरण किया था। लेकिन उनको मौका नहीं मिल सका। बच्चे को अपहरण के बाद शहर व आसपास मोटरसाइकिल से घुमाते रहे। जीवाजी गंज से नाला नंबर एक से होते हुए बाइपास, बड़ोखर फिर शिकारपुर होते हुए नहर के रास्ते गोपालपुरा पहुंचे। तब तक पुलिस ने उनको दबोच लिया। पूछताछ में यह तथ्य भी सामने आया है आरोपियों ने मासूम की पिटाई भी लगाई थी। पुलिस ने आरोपी संजय जाटव, ब्रजेश जाटव, सुनील जाटव व पुष्पा जाटव के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

 

"बच्चे का अपहरण कर 10 लाख की फिरौती मांगने वाले थे लेकिन तब तक पुलिस की सक्रियता बढ़ गई, उनको मौका नहीं मिल सका और पुलिस ने उनको दबोच कर बच्चे को सकुशल मुक्त करा लिया।"
डॉ. असित यादव, पुलिस अधीक्षक, मुरैना

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned