UNEMPLOYED INDIA: मोदी राज में हुआ नौकरी का टोटा, बेरोजगार के साथ हो रहा भद्दा मजाक

Gaurav Sen

Publish: Jun, 14 2018 04:04:04 PM (IST)

Gwalior, Madhya Pradesh, India
UNEMPLOYED INDIA: मोदी राज में हुआ नौकरी का टोटा, बेरोजगार के साथ हो रहा भद्दा मजाक

मोदी राज में हुआ नौकरी का टोटा, बेरोजगार के साथ हो रहा भद्दा मजाक

भिण्ड। बुधवार को शहर के दिलीप सिंह लॉ कॉलेज परिसर में आयोजित कौशल रोजगार मेले में पहुंचे भिण्ड के अलावा नजदीकी जिलों के युवक-युवतियों को निराशा हाथ लगी। दूर दराज क्षेत्र से आए बेरोजगारों को उनकी योग्यता के अनुसार सीधे तौर पर नौकरी देने के बजाए कोई दो साल तक बिना पगार के प्रशिक्षण पर रखने की बात कर रहा था तो कोई कंपनी पांच हजार रुपए महीने की दर से महाराष्ट्र के गुडग़ांव में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी पर रखने की बात कर रही थी।

 

बिग ब्रेकिंग: शिवपुरी हाइवे पर गैस टैंकर हुआ दुर्घटनाग्रस्त, 17 टन गैस घुली हवा में, लोग घर छोड़कर भागे

 

18 से 35 वर्ष के 8 वीं से लेकर स्नातक व डिप्लोमा, डिग्री धारक युवक युवतियों को आमंत्रित किया गया था। प्रचार-प्रसार कर प्रशासन द्वारा बताया गया था कि कौशल रोजगार मेले के माध्यम से बेरोजगार युवाओं को विभिन्न १६ कंपनियों में नौकरी दिलाया जाना प्रशासनिक स्तर पर प्रचारित किया गया था। क्षेत्र से हजारों युवा अपने आवेदन लेकर पहुंचे लेकिन मेले में इतनी भीड़ हो गई कि पंजीयन कॉउंटर पर कतारबद्ध आवेदक गिर-गिरपड़ रहे थे।

इन कंपनियों को लेने थे युवाओं से बायोडाटा
जिला रोजगार कार्यालय के अनुसार जी-४एस सिक्योरिटी कंपनी गुडग़ांव, एसआइएस सिक्योरिटी कंपनी अनूपपुर, शिव शक्ति बायोटेक सागर, भास्कर ग्रुप मंडीदीप भोपाल, प्रतिभा सिंटेक्स प्रथमपुर धार, एलआईसी भिण्ड, कर्लऑन प्रायवेट लिमिटेड मालनपुर, शिवशक्ति बायोटेक अहमदाबाद, द सुप्रीम इंडस्ट्रीज मालनपुर, मॉडलेज इंडिया फूड प्रायवेट लिमिटेड मालनपुर, एसजी पॉवर एण्ड इंडस्ट्रीयल मालनपुर, एक्जोनेबल इंडिया प्रायवेट मालनपुर, टेवा एपीआई मालनपुर, रिलायबल फस्ट अहमदाबाद, राजस्थान टैक्सटाइल्स मील राजस्थान, आरआरएस सिक्योरिटी इंडिया प्रायवेट लिमिटेड ग्वालियर के प्रतिनिधियों को रोजगार मेले में आने वाले आवेदकों से उनके आवेदन प्राप्त करने थे। लेकिन वे नहीं आए।

 

 

आठ कॉउंटर लगाए गए थे पंजीयन के लिए
रोजगार मेले में पंजीयन के लिए विकासखण्ड स्तर पर आठ कॉउंटर लगाए गए थे। बावजूद इसके भीड़ कम होती नजर नहीं आ रही थी। तपती दोपहरी में भी युवावर्ग नौकरी हासिल करने के लिए धक्कामुक्की भी झेल रहे थे। गोहद, भिण्ड, लहार, मेहगांव, अटेर, रौन, गोरमी, मौ के नाम से भी पंजीयन के लिए अलग-अलग कॉउंटर लगाए गए थे।

मालनपुर की अधिकांश कंपनियों के बारे में बताया गया था लेकिन एक भी कंपनी के लोग नहीं मेले में नहीं पहुंचे। सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी पांच हजार रुपए में देने की बात कर रहे हैं वह भी गुडग़ांव में। एक तरह से मजाक किया जा रहा है बेरोजगारों के साथ।
संजीव शर्मा, बेरोजगार युवक निवासी ग्वालियर

 

मैं इंजीनियरिंग की डिग्री शुदा व्यक्ति हूं। यहां नौकरी देखने क े लिए आया तो कुछ कंपनियों के प्रतिनिधि कह रहे थे कि दो साल तक बिना पगार के प्रशिक्षण लेना पड़ेगा तब नौकरी प्रदान करेंगे। सरकार बेरोजगारों की खिल्ली उड़ा रही है।
रितेश भारद्वाज, बेरोजगार युवक निवासी ग्वालियर

विभिन्न औद्योगिक कंपनियों को भी आमंत्रित किया गया था किन्हीं कारणोंवश कुछ कंपनियों के लोग नहीं आ पाए हैं। मेले में हुए पंजीयन के आधार पर कम से कम 1500 से 2000 लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद है।
स्वप्निल श्रीवास्तव, जिला रोजगार अधिकारी भिण्ड

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned