प्राइवेट स्कूलों की तरह सरकारी स्कूलों में भी होगी टीचर-पेरेंट्स मीटिंग

बोर्ड परीक्षा में परिणाम सुधारने के लिए शिक्षा विभाग ने जिलास्तर पर तैयारी शुरू कर दी है।

By: Rahul rai

Published: 06 Jan 2020, 12:32 AM IST

ग्वालियर। शासकीय स्कूलों में दसवीं और बारहवीं बोर्ड परीक्षा का परिणाम सुधारने के लिए 11 जनवरी को टीचर-पेरेंट्ïस मीटिंग का आयोजन किया गया है। मीटिंग में शिक्षक अभिभावकों को छात्रों की अद्र्ध वार्षिक परीक्षा का परिणाम बताएंगे और जिन विषयों में छात्र कमजोर होंगे उनके संबंध में अभिभावकों से विचार विमर्श कर उनसे परिणाम सुधारने में सहभागिता की अपील करेंगे। बोर्ड परीक्षा में परिणाम सुधारने के लिए शिक्षा विभाग ने जिलास्तर पर तैयारी शुरू कर दी है।


जिलेभर के हाईस्कूल व हायर सेकंडरी स्कूल के प्राचार्यों को स्कूल शिक्षा विभाग की प्रमुख सचिव रश्मि अरुण शमी के निर्देशन में जारी आदेश में बोर्ड परीक्षा में बैठने वाले छात्रों के अभिभावकों की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए अद्र्ध वार्षिक परीक्षा का परिणाम अभिभावकों को दिखाएंगे। इस दौरान छात्र के उत्कृष्ट अंक व कमजोर विषयों के अंकों के संबंध में टीचर पेरेंट्ïस के साथ मंत्रणा करेंगे। जिन स्कूलों में छात्रों की संख्या अधिक है, उनमें दो-तीन दिन बैठक होगी। बैठक के लिए अभिभावकों को सूचित किया जा रहा है।


हर छात्र के संबंध में अपटेड रहेंगे शिक्षक
टीचर और पेरेंट्स मीटिंग में शामिल होने से पहले शिक्षक हर छात्र के संबंध में विषयवार अपडेट रहेंगे। वह हर छात्र का रिपोर्ट कार्ड तैयार रखेंगे, जिसमें छात्र की तैयारी व अद्र्ध वार्षिक परीक्षा परिणाम के बारे में जानकारी होगी। आवश्यकता अनुसार छात्र व अभिभावक को अद्र्ध वार्षिक परीक्षा की उत्तर पुस्तिका भी दिखाई जाएगी। बैठक से पहले शिक्षक, छात्र की उत्तर पुस्तिका से यह भी समझेंगे कि छात्र कौन-कौन से अध्याय व सब्जेक्ट में ज्यादा कमजोर हैं। प्री बोर्ड परीक्षा से पहले ऐसे कमजोर सब्जेक्ट व अध्याय पर शिक्षक ज्यादा मेहनत करेंगे। अभिभावक को शिक्षक यह भी बताएंगे कि किन विषयों में छात्र को ज्यादा अभ्यास की जरूरत है। छात्र की आदतों, व्यवहार, कक्षा में अध्ययन इत्यादि के बारे में शिक्षक अभिभावक को बताएंगे।


बोर्ड परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों के अभिभावकों के साथ बैठक का आयोजन सुनिश्चित किया गया है। इस प्रयास से परीक्षा परिणाम सुधार में अभिभावकों की सहभागिता होगी।
अशोक दीक्षित, एडीपीसी, स्कूल शिक्षा विभाग

Rahul rai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned