लॉकडाउन की खबर फैलते ही बाजारों में भीड़ बेकाबू, रास्ते जाम

- कोरोना गाइडलाइन का हुआ उल्लंघन
- बाजारों में पैर रखने की नहीं मिली जगह
- सडक़ों पर उतरे कमिश्नर, आइजी, कलेक्टर और एसपी
- दुकानों के आगे गोल घेरे बनवाने के निर्देश

By: Hitendra Sharma

Published: 09 Apr 2021, 08:44 AM IST

ग्वालियर. प्रदेश में आज शुक्रवार की शाम 6 बजे से घोषित हुए लॉक डाउन के बाद शहर का बाजार अचानक गर्मा गया। जैसे ही लोगों को पता चला कि दो दिन बाजार पूरी तरह बंद रहेंगे, लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। शाम तक हालात यह हो गए कि महाराज बाड़ा पर वाहनों की लंबी-लंबी कतारें जाम लग गईं और वाहनों के पहिये थम से गए। उधर महाराज बाड़े से सटे बाजार पूरी तरह ठसाठस हो गए।

यह हालात तब है जब गुरुवार को कोरोना संक्रमण का आंकड़ा 300 के करीब पहुंच गया है। बाजारों में भीड़ से अफसरों के कान भी खड़े हो गए। इसके बाद संभागायुक्त आशीष सक्सेना के नेतृत्व में पुलिस और प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी बाजारों में निकल पड़े। इस दौरान उन्होंने दुकानदारों को समझाइश दी कि अगर कोविड नियमों का उल्लंघन किया तो कारोबार नहीं कर सकोगे। उन्होंने पहले मास्क वितरित किए और दुकानदारों को सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखकर कारोबार करने की समझाइश दी। साथ ही उन्हें आगाह भी किया कि यदि बिना मास्क लगाए और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किए बगैर किसी दुकान या बाजार में कारोबार होता मिला तो प्रशासन को मजबूरन ऐसी दुकानों व बाजारों को बंद करने की कार्रवाई करनी पड़ेगी।

संभाग आयुक्त आशीष सक्सेना, पुलिस महानिरीक्षक अविनाश शर्मा, कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, पुलिस अधीक्षक अमित सांघी एवं एडीएम रिंकेश वैश्य सहित जिला प्रशासन के अन्य वरिष्ठ अधिकारी सबसे पहले फूलबाग चौराहे पर पहुंचे। इसके बाद फूलबाग गुरुद्वारा, नदीगेट, जयेन्द्रगंज, इंदरगंज, ऊंटपुल, पाटनकर बाजार व दौलतगंज होते हुए महाराज बाड़ा पहुंचे। यहां पर अधिकारियों ने नजरबाग मार्केट व सुभाष मार्केट सहित बाड़े पर स्थित अन्य बाजारों का जायजा लिया।

सोशल डिस्टेंसिंग से दुकानें लगवाएं

इस अवसर पर संभाग आयुक्त सक्सेना एवं पुलिस महानिरीक्षक शर्मा ने लश्कर क्षेत्र के इंसीडेंट कमाण्डर अनिल बनवारिया एवं पुलिस टीम को निर्देश दिए कि बाड़े पर स्थित विभिन्न बाजारों में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ दुकानें लगवाई जाएं। साथ ही दुकानों के आगे गोल घेरे भी बनवाए जाएं। अफसरों ने दुकानदारों को भी समझाया कि सभी दुकानदार आपसी समन्वय बनाकर ऐसी व्यवस्था बनाएं, जिससे किसी भी दुकान के सामने भीड़ जमा होने की स्थिति न बने। साथ ही स्पष्ट किया कि बिना सोशल डिस्टेंसिंग के किसी को भी दुकान चलाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। बार-बार समझाने के बावजूद भी जो दुकानदार कोरोना गाइडलाइन का पालन न करें उनकी दुकानें सील्ड कर दी जाएं।

Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned