शहर में चप्पे-चप्पे पर पुलिस फिर भी हो गई वारदात, चाकू की दम पर वृद्धा को लूटा

loot in house in gwalior during corona lockdown : लेकिन सख्ती का असर गुंडे बदमाषों पर नहीं दिखा है। मंगलवार को कफर्यू लगने के बावजूद तीन लुटेरों ने गोला का मंदिर में कारीगर के घर में घुसकर उसकी पत्नी को चाकू के बूते पर बंधक बनाकर छह हजार रुपए लूटे।

ग्वालियर। इन दिनों कोरोना वायरस को लेकर लोगों के घर से बाहर निकलने पर पाबंदी है। मंगलवार षाम से कफर्यू लगा है सडक पर निकलने वालों को लटठ मारकर खदेड रही है। लेकिन सख्ती का असर गुंडे बदमाषों पर नहीं दिखा है। मंगलवार को कफर्यू लगने के बावजूद तीन लुटेरों ने गोला का मंदिर में कारीगर के घर में घुसकर उसकी पत्नी को चाकू के बूते पर बंधक बनाकर छह हजार रुपए लूटे।

पिंटो पार्क निवासी अच्छेलाल जाटव ने पुलिस को बताया, मूलतः टीकमगढ का रहने वाला है। मकान बनाने का कारीगर है। रोजी रोटी की तलाष में कई महीने पहले गांव से परिवार सहित यहां आ गया। इन दिनों कोरोना वायरस को लेकर काम नहीं मिल रहा है। दिन भर घर में रहा। षाम को पता चला कि कफर्यू लग गया है तो घर से कुछ दूरी पर दोस्त के समय काटने चला गया। पत्नी सुखवती घर में थीं और रात का खाना बनाने की तैयारी कर रही थीं। तीन बदमाष घर में घुस आए। सुखवती को चाकू अडाकर धमकी दी, घर में जो पैसा टका है दे दो। हल्ला मचाया तो जान से मारने में वक्त नहीं लगेगा। बदमाषों के बीच में सुखवती अकेली फंस गई तो जैसा लुटेरों ने कहा वैसा मानना पडा। घर में छह हजार रुपए रखे थे। लुटेरे छीनकर भाग गए।

खाने पीने का संकट हो गया
प्ुलिस ने बताया अच्छेलाल घर लौटा तो वारदात पता चली। लुटेरे करीब 25 से 28 साल के बीच के थे। पहचान छिपाने के लिए तीनों ने मुंह पर साफी बांध रखी थी। अच्छेलाल के घर में सिर्फ छह हजार रु ही था। उसकी परेषानी है कि इन दिनों काम नहीं मिल रहा है ऐसे में जो रकम थी उसे भी लुटेरे ले गए तो परिवार के लिए खाने पीने का सामान खरीदने का संकट हो गया है।

Gaurav Sen Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned