बेटियों को लेकर संत हरिगिरि महाराज ने कही ऐसी बात,मंत्री ने भी दी सहमति

बेटियों को लेकर संत हरिगिरि महाराज ने कही ऐसी बात,मंत्री ने भी दी सहमति

By: monu sahu

Published: 24 Jul 2018, 01:14 PM IST

ग्वालियर। दहेज का दानव समाज से दूर भगाना है। हमारे समाज की बेटियां खूब पढ़ें,खूब तरक्की करंे,आगे बढ़ंे,दहेज न देओ,न लेओ। दहेज की वजह से बेटियों को यातनाएं झेलनी पड़ती हैं। यह कष्ट हमसे नहीं देखा जाता है। आज गिरगांव महादेव मंदिर में हम सब मिलकर शपथ लें,न बेटा की शादी में दहेज लेंगे,न बेटी की शादी में दहेज देंगे। दहेज का पैसा बेटियों की पढ़ाई पर खर्च करेंगे,जिससे हमारे समाज की बेटियां कलेक्टर,एसपी कमिश्नर जैसे पद पर आसीन हो सकें। यह बात सोमवार को गुर्जर समाज की महापंचायत में संत हरिगिरि महाराज ने दहेज बंदी का आव्हान करते हुए कही।

 

उन्होंने कहा कि दहेज हमारी बेटियों का काल बना है। इस वजह से कई लड़कियों को शादी के बाद भी ससुराल में सुख नहीं मिल पाया। दहेज के पैसों से बेटी को पढ़ाओ,बेटी,शिक्षित होगी तो अच्छे-अच्छे घर के लड़के शादी करने के लिए तैयार हो जाएंगे। दहेजबंदी को लेकर मुरैना से अभियान शुरू शुरू किया था,अब पूरे प्रदेश में लेकर जा रहे हैं,सब सहयोग करें।

 

संत हरिगिरि महाराज ने भावुक होते हुए कहा कि मंदिर पर खड़े होकर आप सभी के समाने दहेज बंदी की भीख मांग रहे हैं, ये भीख हमारी झोली में डाल दो। उन्होंने कहा कि एक साल पहले शराब बंदी के लिए महादेव की शपथ ली थी, पूरा समाज एकजुट हुआ था,आज फिर से हाथ उठाकर शपथ लो और एकजुट होने का परिचय दो। उन्होंने कहा कि जो लोग दहेज लेंगे,उनका समाज से बहिष्कार करेंगे।

 

संत का आदेश मानती है जनता: रुस्तम सिंह
कार्यक्रम में प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री रुस्तमसिंह ने कहा कि जनता जो बात सरकार की नहीं मानती, वो संत समाज की मानती है। सरकारें कई बार दहेज बंदी लेकर प्रयास कर चुकी हंै। एक संत के आव्हान पर पूरा समाज एकजुट हो जाता है, दहेज बंदी को लेकर लोग घरों से निकलकर आ रहे हैं,एकजुट हो रहे हैं। इस मौके पर भीकम सिंह, अशोक सिंह, भूपेंद्र गुर्जर, बाबूङ्क्षसह, छत्रपालसिंह गुर्जर आदि मौजूद थे।

 

50 गांव के लोग हुए शामिल
दहेज बंदी को लेकर ग्वालियर जिले के अलावा मालनपुर सहित करीब 50 गांव के लोग शामिल हुए। इस मौके पर पथवारी माता भक्त मंडल, गोरमी भक्त मंडल, गिरगांव भक्त मंडल, शीतल दास भक्त मंडल, शीतला माता भक्त मंडल, देवनारायण भक्त मंडल, दंदरौआधाम भक्त मंडल के लोग शामिल थे।

monu sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned