ज्योतिरादित्य सिंधिया प्रदेश अध्यक्ष बनें मेरे जैसे लाखों कार्यकर्ता चाहते हैं : महेन्द्र सिंह

प्रदेश में कांग्रेस ने ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ का चेहरा सामने रखकर चुनाव लड़ा था

By: monu sahu

Published: 05 Sep 2019, 11:31 AM IST

ग्वालियर। पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा प्रदेश सरकार के कार्य में हस्तक्षेप को लेकर दिए गए बयान के बाद उनके खेमे के मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने एक कदम आगे बढकऱ कहा कि हस्तक्षेप का अधिकार अगर किसी को है तो वह सिंधिया को है। क्योंकि इस प्रदेश में सरकार बनाने में सिंधिया की बड़ी भूमिका रही है। वहीं मंत्री महेन्द्र सिंह ने भी कहा कि सरकार में किसी का हस्तक्षेप नहीं होना चाहिए।

यह भी पढ़ें : सिंधिया को हराने वाले केपी के खिलाफ सडक़ों पर उतरे लोग, महिलाएं बोली सांसद सीखें नारी का सम्मान

राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने यहां पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि प्रदेश में कांग्रेस ने ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ का चेहरा सामने रखकर चुनाव लड़ा था। वर्तमान में जो पर्दे के पीछे से सरकार चलाने में भूमिका अदा कर रहे हैं उन्हें अब अलग हो जाना चाहिए। राजपूत ने कहा कि मैं ही नहीं मेरे जैसे लाखों कार्यकर्ता चाहते हैं कि प्रदेश अध्यक्ष का पद सिंधिया को मिलना चाहिए। इसका निर्णय जल्दी होना चाहिए।

यह भी पढ़ें : ज्वॉइनिंग का आवेदन लेकर पहुंचे शिक्षक से कलेक्टर ने लिखवाई स्पेलिंग, शिक्षक बोला- मैं तो हिंदी का टीचर हूं

अध्यक्ष बनना सिंधिया की स्वयं की इच्छा पर निर्भर है। दिग्विजय सिंह द्वारा युवा को अध्यक्ष बनाए जाने के बयान पर उन्होंने कहा कि मैं उनके बयान पर कुछ नहीं बोलना चाहता हूं। प्रदेश के मंत्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया ने कहा कि सरकार बनाने में सिंधिया की महत्वपूर्ण भूमिका रही है इसलिए मुख्यमंत्री कमलनाथ को अब आगे आकर कांग्रेस अध्यक्ष से बात कर सिंधिया को प्रदेश अध्यक्ष बनवाना चाहिए। उमंग सिंघार के बयान पर उन्होंने कहा कि उन्हें पार्टी के मंच पर अपनी बात रखनी चाहिए।

यह भी पढ़ें : माता-पिता और बेटी ने मिलकर जमाया ऐसा धंधा, कमा डाले करोड़ों रुपए

Jyotiraditya Scindia
monu sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned