खुफिया विभाग के राडार पर फर्जी कैप्टन, माशूका को रिझाने बनवाया था फर्जी परिचय पत्र

Gaurav Sen

Publish: Oct, 13 2017 10:07:45 (IST)

Gwalior, Madhya Pradesh, India
खुफिया विभाग के राडार पर फर्जी कैप्टन, माशूका को रिझाने बनवाया था फर्जी परिचय पत्र

एनसीसी ग्रुप हैड क्वार्टर (कंपू) में सेना का कैप्टन बनकर घुसा फरेबी वंशीपुरा निवासी विपिन चौहान ने माशूका को इम्प्रेस करने के लिए फर्जी कैप्टन बना था।

ग्वालियर। एनसीसी ग्रुप हैड क्वार्टर (कंपू) में सेना का कैप्टन बनकर घुसा फरेबी वंशीपुरा निवासी विपिन चौहान ने माशूका को इम्प्रेस करने के लिए फर्जी कैप्टन बना था।


उसने कैप्टन का फर्जी परिचय पत्र और माशूका को अपनी पत्नी बताते हुए कैन्टीन का कार्ड एमएच चौराहे के पास बनी स्टांप की नार्वे की दुकान से बनवाया था। यह खुलासा होने के बाद वह खुफिया विभाग के निशाने पर आ गया है। पुलिस ने उस ट्रेनी कैडेट को बुलवाया जिसे यह अपनी मंगेतर बता रहा था। वह बोली वो दोस्त है, मंगेतर नहीं।

 

मंगेतर से मिलने चाहत में इस युवक के साथ हुआ ऐसा की, सोचने पर मजबूर हो जाऐेंगे आप

 


प्रेमिका फर्जी आश्रित कार्ड और वोटर कार्ड के बारे में वह कुछ नहीं बता सकी। बुधवार दोपहर मुरार सेना का कैप्टन बनकर ग्रुप हैडक्वार्टर में घुसने के बाद पकड़ा गया। उसने खुलासा बताया वह मंगेतर से मिलने आया था। जो ग्रुप हैडक्वार्टर में ट्रेनी कैडेट है। वह कैप्टन का फर्जी परिचय पत्र बनाकर माशूका और घरवालों को इम्प्रेस करना चाहता था।
विपिन बंशीपुरा में वर्ष 2008 से अपनी मां और मौसेरे भाई के साथ रहता है। इससे पहले हाथीखाने में रहा। बीएससी द्वितीय वर्ष में पढ़ाई के साथ-साथ थाटीपुर मुरार में छोटे बच्चों को अंग्रेजी की ट्यूशन भी पढ़ाता है।

 

आयुक्त ने कोर्ट से कहा - जितना पानी मिल रहा, उसे कर रहे वितरित

 

एक साल से दोस्ती
विपिन ने बताया माशूका को पिछले एक साल से जानता है। बिपिन एसएलपी कॉलेज का छात्र है। जबकि माशूका मुरार में ही एक गल्र्स कॉलेज में पढ़ती है। पूछताछ में बताया उसे विश्वविद्यालय में कोई काम पड़ गया था। तब दोस्त प्रशांत चौहान ने विपिन से मिलवाया था। विपिन ने उसका काम भी करा दिया। इसके बाद उनमें अच्छी दोस्ती हो गई।


चार दिन रिमांड पर
विपिन को गिरफ्तार करने के बाद कोर्ट में पेश कर चार दिन के रिमांड पर लिया है। उससे कई जानकारियों के बारे में पूछताछ करनी है।
महेश शर्मा, टीआई कंपू थाना

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned