चंबल में पांच डिग्री नीचे आया पारा, अब और बढ़ेगी सर्दी

बादलों के बीच धूप की रही लुकाछिपी, दिनभर हवाओं में रही ठंडक

By: monu sahu

Published: 03 Dec 2019, 03:38 PM IST

ग्वालियर। दिसंबर की शुरुआत के साथ ही सर्दी का अहसास अब और बढऩे लगा है। सोमवार को जहां पारा 5 डिग्री नीचे सरक गया, जिससे दिनभर लोगों ने शरीर से गर्म कपड़ों को दूर नहीं किया। दोपहर में बादलों के बीच हल्की सी धूप तो निकली,लेकिन उसमें गर्माहट महसूस नहीं हुई। सुबह से शाम तक चलने वाली हवाओं में ठंडक घुली रही। साथ ही शहर में सुबह से ही आसमान पर बादल छाए हुए थे तथा कोहरे की हल्की धुंध के बीच चलने वाली हवाओं में शीतलता घुली हुई थी,जिसके चलते सुबह घर से निकलते समय लोग गर्म कपड़े पहनकर ही निकले।

स्कूली बच्चों से लेकर कोचिंग पर जाने वाले बच्चे भी गर्म कपड़ों में ही घर से बाहर निकले। सुबह 10 बजे हल्की धूप निकली, लेकिन हवाओं में ठंडक घुली होने से धूप में गर्माहट का अहसास नहीं हुआ। वातावरण में सर्दी बढऩे से जहां चाय की गुमटियों पर दिनभर ग्राहकों की भीड़ नजर आई, वहीं गर्म कपड़ों की बिक्री भी शुरू हो गई। रजाई भरने वालों के पास भी काम बढऩे से वे एक दिन में चार से पांच रजाइयां भर रहे हैं। मौसम में घुली ठंडक से किसानों के चेहरे खिल गए हैं, क्योंकि सर्दी के साथ नमी बढऩे से खेतों में निकल आए पौधों की बढ़वार अच्छी होगी।

mansoon in gwalior at Madhya Pradesh

न्यूनतम तापमान 9 डिग्री पर आया
जिले में सोमवार को एकाएक न्यूनतम तापमान 9 डिग्री पर आ गया। रविवार को जहां अधिकतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस तथा न्यूनतम तापमान 14 डिग्री दर्ज किया गया था, वहीं सोमवार को अधिकतम तापमान 23 डिग्री तथा न्यूनतम में 5 डिग्री की गिरावट होने से 9 डिग्री सेल्सियस हो गया। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार तापमान में हो रही गिरावट अब आगे के दिनों में भी जारी रहेगी।

नहीं बढ़े रुई के दाम
इस बार सर्दी अच्छी पडऩे की उम्मीद जताई जा रही है, लेकिन सर्दी से बचाव के लिए बनने वाली रजाइयों में भरी जाने वाली रुई के दाम नहीं बढ़े। बीते वर्ष की तरह इस वर्ष भी 120 रुपए से लेकर 170 रुपए किलो में रुई मिल रही है, जबकि देशी रुई के दाम 200 रुपए किलो हैं।

Show More
monu sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned