मरीजों की सेवा का ऐसा जुनून कि नौकरी से समय निकालकर निशुल्क करते है उपचार

उसके बाद हर शनिवार को शाम ४ बजे से सांई बाबा मंदिर पर मरीजों को निशुल्क उपचार करते है। लगभग बीस साल से यह हर शनिवार को यहां पर आना नहीं भूलते है।

By: Neeraj Chaturvedi

Updated: 06 Jan 2020, 04:59 PM IST

बिरला अस्पताल के डॉक्टर लगभग तीस वर्षो से पहुंच रहे है सांई मंदिर में
- हफ्ते में एक दिन देखते है सर्जन डॉ. सुनील अग्रवाल
ग्वालियर. डॉक्टर को भगवान माना गया है। हालांकि कुछ डॉक्टर अपने पेशे को भूलते जा रहे है, लेकिन इनमें से कुछ डॉक्टर ऐसे भी है जो मानव सेवा को अपना धर्म मानते है। इसके लिए वे अपनी नौकरी में से बचे समय में से मरीजों का निशुल्क उपचार करने में जुटे हुए है। हम बात कर रहे है बिरला हॉस्पिटल में ऑर्थोपेडिक सर्जन डॉ. सुनील अग्रवाल की। यह अस्पताल में सुबह से शाम तक मरीजों का इलाज करते है। उसके बाद हर शनिवार को शाम ४ बजे से सांई बाबा मंदिर पर मरीजों को निशुल्क उपचार करते है। लगभग बीस साल से यह हर शनिवार को यहां पर आना नहीं भूलते है। चाहे जो भी आवश्यक काम हो , लेकिन डॉक्टरों को देखने के लिए हमेशा शनिवार को यह कीमती समय भी निकालकर यहां पर आते है। इतना ही नहीं मरीजों को उपचार के साथ कभी कभी दवाएं भी देकर उनकी मदद करते है। डॉक्टर से इलाज कराने के लिए दूर- दूर से मरीज आकर यहां पर इलाज कराते है। हालात यह हो गए है कि हर शनिवार को यहां पर अब मरीजों की अच्छी भीड़ पहुंच रही है। डॉक्टर अग्रवाल बताते है कि बाबा की हाजिरी में जितना भी समय मरीजों की सेवा में लग जाए। उसे में अपना काम समझकर करता हंू। वास्तव में मंदिर में आकर मरीजों को देखने में काफी सुकून मिलता है। मंदिर में आकर मरीजों की सेवा करने का अलग ही आनंद आता है।
मरीजों की जांच आधी कीमत पर
सांई बाबा मंदिर में आने वाले मरीजों की जांच सांई बाबा ट्रस्ट द्वारा आधी कीमत में कराई जाती है। इसके लिए ट्रस्ट ने पैथोलॉजी से संपर्क किया है। इसमें मरीजों के अल्ट्रासाउंड के साथ कई तरह की जांचे शामिल है। ऐसे में मरीजों को काफी लाभ मिल जाता है।

Neeraj Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned