scriptMastermind arrested for making disability certificate for Rs 1000 | दिव्यांग बनाने की 'दुकान', 1 हजार रुपए में बना देता था अंधा, बहरा या गूंगा | Patrika News

दिव्यांग बनाने की 'दुकान', 1 हजार रुपए में बना देता था अंधा, बहरा या गूंगा

बड़े रैकेट का खुलासा..फर्जी दिव्यांग बनाकर सूची वेबसाइट पर की जाती थी अपडेट..

ग्वालियर

Published: January 14, 2022 06:13:03 pm

ग्वालियर. मध्यप्रदेश के ग्वालियर में महज एक हजार रुपए में अच्छे भले इंसान को दिव्यांग बनाए जाने का खुलासा हुआ है। पुलिस ने पैसे लेकर फर्जी दिव्यांग सर्टिफिकेट बनाने वाले आरोपी को गिरफ्तार किया है जो कि सिविल सर्जन के ऑफिस में ऑपरेटर के पद पर पदस्थ था। अभी तक ये शख्स कितने लोगों के फर्जी दिव्यांग सर्टिफिकेट बना चुका है फिलहाल इसका खुलासा नहीं हो पाया है। लेकिन ये जरुर पता चला है कि 1 हजार रुपए लेकर जिन भी लोगों के फर्जी दिव्यांग सर्टिफिकेट आरोपी ने बनाए हैं उन्हें वेबसाइट पर भी अपडेट कर चुका है।

gwalior.jpg


खोल रखी थी दिव्यांग बनाने की 'दुकान'
ग्वालियर क्राइम ब्रांच व कंपू पुलिस को सूचना मिली थी कि बड़े स्तर पर लोगों के फर्जी दिव्यांग सर्टिफिकेट बनाए जा रहे हैं। पुलिस ने मामले की तफ्तीश की और कड़ियां जोड़नी शुरु कीं तो पता चला कि मुरैना के सबलगढ़ के रहने वाले बसंत गौर, रामनरेश त्यागी और कपिल धाकड़ ने भी शरीर में कोई खामी न होने के बावजूद फर्जी दिव्यांग सर्टिफिकेट बनवा रखे हैं। पुलिस ने मामले में जब सीएमएचओ से बात की तो पता चला कि जो फर्जी सर्टिफिकेट बनाए गए हैं उनपर उनके हस्ताक्षर व साइन नहीं हैं। तफ्तीश आगे बढ़ी तो पुलिस उस मास्टरमाइंड तक पहुंची जो दिव्यांग बनाने की 'दुकान' चला रहा था। आरोपी का नाम गुरु है जिसे सिविल सर्जन के दफ्तर में आउटसोर्स पर ऑपरेटर रखा गया था। गुरु ही वो शख्स है जिसने महज एक हजार रुपए लेकर न जाने कितने अच्छे भले इंसानों के फर्जी दिव्यांग सर्टिफिकेट बना डाले। आरोपी ने बताया कि वो करीब तीन महीने से फर्जी सर्टिफिकेट बना रहा था और उसे 5 दिन पहले ही जॉब से हटाया गया है।

यह भी पढ़ें

चोरी की बकरी बनी सरकारी मेहमान, खातिरदारी में जुटी पुलिस, देखें वीडियो




पुलिस कर रही आरोपी से पूछताछ
पुलिस को शक है कि इस फर्जी वाड़े में कई लोग शामिल हो सकते हैं। ये भी हो सकता है कि स्वास्थ विभाग और इस दिव्यांग सार्टिफिकेट बनाने वाले विभाग के कुछ लोग पर्दे के पीछे से पैसों का लेन-देन कर रहे हों। इन्हीं सभी आशंकाओं के चलते पुलिस फिलहाल पकड़े गए आरोपी गुरु से पूछताछ कर रही है। बता दें कि दिव्यांग सर्टिफिकेट बनवाने के बाद फर्जी दिव्यांग धड़ल्ले से उन सरकारी योजनाओं का लाभ उठा रहे थे जिनपर की असलियत में हक दिव्यांगों का होता है।

देखें वीडियो- चोरी की बकरी की खातिरदारी में जुटी खाकी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

SSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगानिलंबित एडीजी जीपी सिंह के मोबाइल, पेन ड्राइव और टैब को भेजा जाएगा लैब, खुल सकते हैं कई राजएसईसीएल ने प्रभावित गांवों को मूलभूत सुविधा देना किया बंद, कोल डस्ट मिले पानी से बर्बाद हो रहे हैं खेतसीएम बड़ा फैसला : स्कूल-होस्टल रहेंगे बंद, घर से ही होगी प्री बोर्ड परीक्षातीसरी लहर का खतरनाक ट्रेंड, डाक्टर्स ने बताए संक्रमण के ये खास लक्षण
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.