जरूरतमंद बच्चों को बांटी शिक्षा की सामग्री

- नई सडक़ स्थित चंपाबाग धर्मशाला में जैन मुनि विहर्ष सागर ने बच्चों से कहा कि शिक्षा के साथ सुसंस्कारों को भी ग्रहण करो

By: Narendra Kuiya

Published: 18 Dec 2020, 11:51 PM IST

ग्वालियर. जैन मिलन एवं चातुर्मास कमेटी की ओर से नई सडक़ स्थित चंपाबाग धर्मशाला में उन बच्चों का सहयोग किया जो विवेकानंद नीडम के पास झोपड़ी में गरीबी हालात में गुजर बसर कर रहे हैं। इन बच्चों को शहर के समाजसेवियों ने शिक्षित करने का अभियान चलाया है। इन बच्चों को जैन मुनि विहर्ष सागर के सानिध्य में ब्रहमचारिणी नीतू दीदी, रीना दीदी, प्रियंका दीदी विनय कासलीवाल, पंकज बाकलीवाल, संजीव अजमेरा, डॉ.विनीता गोधा, संगीता गंगवाल एवं प्रवक्ता ललित जैन ने किताबें, कॉपियां, कपड़े एवं मिष्ठान भेंट किया। इस मौके पर मुनिश्री ने बच्चों से कहा कि शिक्षा के साथ सुसंस्कारों को भी ग्रहण करो।

ताकतवर होती है विचारों की शक्ति
इस अवसर पर धर्म सभा को संबोधित करते हुए जैन मुनि विहर्श सागर ने कहा कि हम विचार करने के लिए स्वतंत्र हैं तो अच्छा क्यों नहीं सोचते। विचारों को बांधा नहीं जा सकता। लेकिन अधिकांश लोग सिर्फ अपने विचारों के कारण ही दु:खी होते हैं। जबकि विचारों की शक्ति से जीवन का उद्धार किया जा सकता है। यदि आपके पास विचार शक्ति नहीं है तो आप दु:खों से बाहर नहीं निकल सकते। आप तो पुण्य कर्म के सहारे दु:खों से बाहर निकलने का इंतजार करते हो। अपनी पीड़ा को अच्छे विचारों से शांत करने के लिए चिंतन करना चाहिए।

Narendra Kuiya Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned