आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से दूसरे काम कराने पर मंत्री इमरती देवी नाराज, बोलीं- अब कलेक्टर, कमिश्नर भी कहें तो मुझे बताना

यहां कमिश्नर बैठे हैं, उनसे कहना चाहती हूं कि हमारी महिलाओं को दूसरे कामों में न लगाएं। कलेक्टर, एसडीएम भी दूसरा काम बताएं तो भी मुझे बताएं। कुछ समय पहले स्वास्थ्य विभाग ने मच्छरदानी बंटवाई थीं, जिसमें हमारी कार्यकर्ताओं को लगाया, इससे उनके मूल काम पर असर पड़ा।

By: Rahul rai

Updated: 03 Dec 2019, 01:08 AM IST

ग्वालियर। विभाग के अलावा हमारी कार्यकर्ता-पर्यवेक्षक किसी और काम से नहीं जाएंगी। अगर कोई आदेश आता है तो सीधे मुझे बताएं। यहां कमिश्नर बैठे हैं, उनसे कहना चाहती हूं कि हमारी महिलाओं को दूसरे कामों में न लगाएं। कलेक्टर, एसडीएम भी दूसरा काम बताएं तो भी मुझे बताएं। कुछ समय पहले स्वास्थ्य विभाग ने मच्छरदानी बंटवाई थीं, जिसमें हमारी कार्यकर्ताओं को लगाया, इससे उनके मूल काम पर असर पड़ा। यह बात महिला बाल विकास मंत्री इमरती देवी सुमन ने सोमवार को बाल भवन में प्रधानमंत्री मातृ वंदना सप्ताह कार्यक्रम के उद्घाटन समारोह में कही।

उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार की मातृ वंदना योजना में मध्यप्रदेश पूरे देश में अव्वल रहा है। इसका श्रेय विभाग की मैदानी कार्यकर्ताओं को जाता है। कार्यक्रम की अध्यक्षता विधायक मुन्नालाल गोयल ने की। संभागायुक्त एमबी ओझा, कलेक्टर अनुराग चौधरी, एसपी नवनीत भसीन, महिला बाल विकास विभाग के अपर संचालक रमन वाल, संयुक्त संचालक सुरेश तोमर, डीपीओ राजीव सिंह, सहायक संचालक राहुल पाठक आदि मौजूद थे।

कार्यकर्ताओं को मिलेंगी साइकिलें
कार्यक्रम में मंत्री ने कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं को जल्द ही साइकिलें दी जाएंगी, जिससे उन्हें हितग्राहियों से संपर्क में आसानी होगी और योजनाओं के क्रियान्वयन में प्रभावी भूमिका निभा सकेंगी। आयोजन के बाद मंत्री ने मातृ वंदना सप्ताह के रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। यह रथ जिले के सभी क्षेत्रों में घूमकर लोगों को जागरूक करेगा।

शासकीय भवनों में पहुंचें आंगनबाड़ी केन्द्र
विधायक मुन्नालाल गोयल ने कहा कि आंगनबाड़ी केन्द्रों की गतिविधियों को और प्रभावी बनाने के लिए शासकीय भवनों में पहुंचाना जरूरी है। जो भी केन्द्र निजी भवन में चल रहे हैं, उन्हें शासकीय भवनों में स्थानांतरित किया जाए। इसके लिए आंगनबाड़ी भवनों का निर्माण भी जल्द हो। कार्यक्रम में संभागायुक्त ने कहा कि विभाग की योजनाओं के क्रियान्वयन के बेहतर परिणाम आने से प्रदेश को 2 करोड़ 95 लाख रुपए की प्रोत्साहन राशि मिली है।

इनका हुआ सम्मान
आयोजन के दौरान प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में उत्कृष्ट काम करने वाले विभाग के मैदानी अमले को मंत्री, विधायक, संभागायुक्त ने स्मृति चिह्न और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। सम्मान पाने वालों में परियोजना अधिकारी महावीर सिंह, ओमप्रकाश सिंह, मंजू कौरव, दीपिका सिंह, प्रीति राणा, सुपरवाइजर उर्मिला सिंह राजपूत, अंजना दुबे, अनीता सक्सेना, प्रिया सेंगर, सरिता अहिरवार, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पुष्पा वर्मा, सुप्रिया सिंह, आशा श्रीवास्तव, रामसखी निर्मोह शामिल हैं।

Rahul rai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned