अरुण यादव के ट्वीट पर मंत्री इमरती देवी का पलटवार, कहा-'पार्टी को खा रहे कांग्रेस के बड़े-बड़े नाग'

शिवराज सरकार में मंत्री इमरती देवी ने अरुण यादव के ट्वीट पर पलटवार करते हुए कहा है कि नाग तो कांग्रेस पार्टी में हैं जो पार्टी को खा रहे हैं।

By: Shailendra Sharma

Published: 25 Jul 2020, 05:19 PM IST

ग्वालियर. नागपंचमी पर एमपी की सियासत में भी नाग को लेकर बयानबाजी चल रही है। सुबह अरुण यादव ने ट्विटर पर ज्योतिरादित्य सिंधिया की तस्वीर पेस्ट करते हुए नागपंचमी की बधाई देते हुए उन पर निशाना साधा था जिसका जवाब मंत्री इमरती देवी ने दिया है। मंत्री इमरती देवी ने कांग्रेस पर पलटवार करते हुए कहा कि अरुण यादव पहले खुद तय कर लें कि कौन नाग है।

कांग्रेस को खा रहे उसके बड़े-बड़े नाग- इमरती देवी
मंत्री इमरती देवी ने अरुण यादव के ट्वीट पर पलटवार करते हुए तीखी टिप्पणी की। मंत्री इमरती देवी ने कहा कि अरुण यादव पहले ये तय कर लें कि नाग कौन है ? कांग्रेस पार्टी में बड़े बड़े नाग बैठे हुए हैं जो अपनी ही पार्टी को खा रहे हैं। साथ ही इमरती देवी ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया नाग नहीं बल्कि शेर हैं और एक अच्छे जनसेवक हैं जिन्होंने जनता और किसानों की भलाई के लिए खुद को दूसरी पार्टी को समर्पित कर दिया।

देखें वीडियो-

 

इमरती देवी कट्टर सिंधिया समर्थक हैं और उन्होंने ने भी ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने के बाद कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था। इमरती देवी कमलनाथ सरकार में भी मंत्री थीं।

capture_5.jpg

अरुण यादव ने किया था विवादित ट्वीट
बता दें कि अरुण यादव ने ज्योतिरादित्य सिंधिया पर विवादित टिप्पणी की थी। ज्योतिरादित्य सिंधिया का फोटो पोस्ट करते हुए अरुण यादव ने लिखा- नागपंचमी की शुभकामनाएं। हालांकि ये पोस्ट करने के बाद अरुण यादव सोशल मीडिया में ट्रोल होने लगे हैं। अरुण यादव की पोस्ट पर यूजर्स ने कई तरह के जवाब दिए हैं। एक यूजर्स ने लिखा- तुम जलन बरकारार रखो, सिंधिया जी जलवा बरक़रार रखेगे। वहीं, एक यूजर्स ने कहा- आपकी नाक के नीचे से 2 विधायक गायब हो गए !! आप कुछ नहीं कर पाए। अरुण यादव की पोस्ट पर टिप्पणी करते हुए एक यूजर ने कहा- सिंधिया जी दर्द ही ऐसा दिए हैं कि तुम भूल नहीं पा रहे हो

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned