संस्कारों के साथ आधुनिकीकरण समय की महती आवश्यकता

- ब्रह्म के स्वर की साप्ताहिक बैठक संपन्न

By: Narendra Kuiya

Published: 22 Nov 2020, 11:40 PM IST

ग्वालियर. समाज हित में संलग्न ब्रह्म के स्वर त्रैमासिक पत्रिका की साप्ताहिक बैठक थियोसोफिकल सोसाइटी के संयुक्त तत्वाधान में रविवार को संपन्न हुई। बैठक में ज्योतिषाचार्य अम्बिका प्रसाद पचौरी एवं प्रशासनिक अधिकारी एसडीएम विनोद भार्गव को शॉल-श्रीफल प्रदान कर संस्था की ओर से सम्मानित किया गया। बैठक को सम्बोधित करते हुए अम्बिका प्रसाद पचौरी ने कहा कि सामाजिक व्यवस्थाओं को संस्कारो के साथ-साथ आधुनिकीकरण की आवश्यकता है। कार्यक्रम में उपस्थित विनोद भार्गव ने कहा की समाज के युवाओं से आव्हान करेंगे कि हमें वेद उपनिषदों के जो संस्कार मिले हैं उनका पालन करते हुए समाज में अपनी महती जिम्मेदारी का निर्वहन करें। बैठक को रिटायर्ड उप पुलिस अधीक्षक निरंजन उपाध्याय, किशन मुद्गल एवं पत्रिका के प्रधान संपादक डॉ. केशव पांडेय ने सम्बोधित किया। बैठक में सहकारिता क्षेत्र से जुड़े एमडी पाराशर ने समाज द्वारा संचालित होने वाली ब्राह्मण साख सहकारी समिति के उद्देश्य कार्य एवं महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि सहकारिता के माध्यम से हम समाज के युवाओं को रोजगार प्रदान कर स्वावलम्बी बना सकते हैं उन्होंने आगे कहा की संस्था जल्द बड़े स्तर पर सहकारी समिति का गठन कर इसके माध्यम से युवाओं को रोजगार के साधन उपलब्ध कराकर ब्राह्मण समाज में आर्थिक कमजोरियों को दूर करेगी। इस मौके पर अरविन्द जैमिनी, राजेंद्र मुद्गल, पंकज शर्मा, राजेश कुमार तिवारी, राजेश कुमार बबेले, दीपक सारस्वत, चंद्र प्रकाश पाराशर आदि उपस्थित थे। संचालन डॉ.दिव्यार्थ दुबे सचिव थियोसोफिकल सोसाइटी ने आभार प्रदर्शन पत्रिका के सह-संचालक जीतेन्द्र शर्मा ने किया।

Narendra Kuiya Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned