MPBSE 12th Result 2020 : प्रदेश की मेरिट में शामिल हुए जिले की 10 छात्र, गार्ड के बेटे ने पाया दूसरा स्थान

सोमवार तीन बजे घोषित हुआ बोर्ड का रिजल्ट

By: monu sahu

Updated: 27 Jul 2020, 08:37 PM IST

ग्वालियर। मध्यप्रदेश हायर सेकेण्डरी की परीक्षा में जिले के 10 छात्रों ने प्रदेश की मेरिट सूची में स्थान बनाया है। प्रदेश की मेरिट में शामिल इन छात्रों के साथ अजीब संयोग जुड़े हुए हैं। सोमवार को घोषित हुए हायर सेकेण्डरी बोर्ड के नतीजों में जिले के 10 छात्रों ने प्रदेश की मेरिट में स्थान बनाया है। जिसमेंं यूको बैंक में गार्ड की नौकरी करने वाले के बेटे ने दूसरा स्थान प्राप्त किया। वहीं छात्रों की सफलता से उनके माता पिता व शिक्षकों में खुशी की लहर है।

कोमल त्यागी ने अंधे एवं मंदबुद्धि समूह शासकीय कन्या एम एल बी उ म वि मुरार ने प्रदेश में दूसरा स्थान प्राप्त किया है। उन्होंने 500 में से 440 अंक प्राप्त किए है। कोमल ने बताया कि उसके पिताजी जिला मुरैना के जौरा गांव में खेती किसानी करते हैं। उन्होंने अपने ताऊ जी के साथ ग्वालियर में रहकर पढ़ाई की। साथ ही अपनी सफलता का श्रेय ताऊजी को दिया।

कक्षा 12वीं के जीव विज्ञान समूह में भरत आर्य ने प्रदेश में दूसरा स्थान प्राप्त किया है। उन्होंने 500 में से 486 अंक प्राप्त किए है। वह डॉक्टर बनना चाहते हैं। भरत के पिताजी यूको बैंक में गार्ड की नौकरी करते है। उन्होंने बताया कि वह प्रतिदिन 8 घंटे पढाई करता था।

डबरा नगर के शासकीय बालक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के छात्र जय किशोर शर्मा पुत्र दिनेश शर्मा ने माध्यमिक शिक्षा मंडल की हायर सेकंडरी बोर्ड परीक्षा वाणिज्य विषय में प्रदेश की टॉपटेन सूची में दसवां स्थान प्राप्त किया है।

महक गुप्ता ने द आर्किड उ मा विद्यालय रॉक्सी पुल ग्वालियर ने कक्षा 12वीं में जीव विज्ञान समूह में प्रदेश में नौवा स्थान प्राप्त किया है। उन्होंने 500 में से 476 अंक प्राप्त किए हैं। वह 12वीं के साथ ही नीट की तैयारी भी कर रही है। महक के पिता की शहर में जूते की हॉल सेल की दूकान है। पिता शिवकांत ने बताया कि वह हर रोज 8 से 10 घंटे पढ़ाई करती थी।


बंशिका शाक्य ने जीव विज्ञान समूह में प्रदेश में दसवा स्थान प्राप्त किया है। वह ब्राईट कान्वेंट उ मा विद्यालय चेतकपुरी की छात्रा है। उन्होंने 500 में से 475 अंक प्राप्त किए है। वह डॉक्टर बनना चाहती हैं। वह प्रतिदिन 17 से 18 घंटे पढाई करती थी। उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय माता पिता,दादा दादी व टीचर को दिया।

गणित संकाय में प्रदेश में सातवां स्थान अमन तिवारी ने 484/500अंक प्राप्त किए हैं।

monu sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned